रात के अंधेरे में आयकर दस्ते की बड़ी कार्रवाई, निशाने पर MP के CM कमल नाथ के निकटतम सहयोगी


Photo/Twitter

रविवार को तड़के सुबह ३ बजे के आसपास मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल सहित सुदूर दिल्ली में आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई हुई है। आयकर विभाग के निशाने पर हैं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निकटतम सहयोगी।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की टीम ने लगभग 60 विभिन्न ठिकानों पर छापा मारकर सर्च की कार्रवाई शुरू की है। इनमें प्रमुख ‌ठिकाने हैं कमलनाथ के ऑफिसर ऑन स्पेश्यल ड्युटी (ओएसडी) प्रवीण कक्कर और उनके सलाहकार राजेन्द्र निगलानी। भोपाल-इंदौर स्थित आवास और कार्यालय सहित अन्य स्थानों पर भी कार्रवाई हो रही है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस कार्रवाई में रविवार दोपहर तक 9 करोड़ रुपये बरादम हुए हैं। इसके अलावा कुछ दस्तावेज भी जप्त किये गये हैं जिसकी जांच चल रही है।

 

आम तौर पर देखा जाता है कि आयकर विभाग सुबह के समय छापे की कार्रवाई करने पहुंचते हैं। लेकिन इस मामले में पूरी टीम तड़क यानि रात के अंधेरे में ही अपने ठिकानों पर पहुंच गई। इतना ही नहीं आयकर दस्ते के अधिकारी रोड़वेज की बसों में बैठकर आये थे। अपुष्ट खबरों के अनुसार चुनाव आयोग को अवैध आर्थिक लेन-देन की सूचना मिली थी जिसमें कहा गया था कि भोपाल से बड़ी मात्रा में नगदी हवाला के जरिये दिल्ली पहुंचाई गई है। इसी के बाद आयोग के इशारे पर आयकर विभाग ने यह कार्रवाई की।

 

चुंकि छापे की कार्रवाई मुख्यमंत्री कमलनाथ के निकटतम सहयोगियों के यहां हुई है, ऐसे में इस पूरे मामले पर कांग्रेस की ओर से प्रतिक्रिया का इंतजार है। बता दें कि जब चुनावी आचार संहिता लागू हुई तब मुख्यमंत्री कार्यालय में ड्युटी पर आसीन दो अधिकारियों ने पिछले महीने ही इस्तीफा दे दिया था।
ज्ञात होगा कि पिछले सप्ताह ही कर्नाटक में कांग्रेस-जनतादल यूनाईटेड गठबंधन से जुड़े लोगों के यहां भी ऐसी ही कार्रवाई हुई थी। उस वक्त कर्नाटक के मुख्मंत्री एचडी कुमारस्वामी व कांग्रेस ने कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित करार देते हुए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग बताया था।