चौथे चरण में उप्र में करीब 58 फीसदी मतदान, कई दिग्गजों के भविष्य का हुआ फैसला


लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर सोमवार को मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया।
Photo/Twitter

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर सोमवार को मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। बीते तीन चरणों के भांति इस चरण में भी लगभग हर लोकसभा क्षेत्र से ईवीएम खराब होने की षिकायतें आयीं। प्रचण्ड गर्मी के कारण मतदाताओं ने दोपहर में मतदान केन्द्रों की ओर कम रूख किया जबकि सुबह और शाम मतदान केन्द्रों पर भीड़ दिखायी दी। इस चरण में 57.58 प्रतिषत मतदान हुआ। सबसे अधिक मतदान खीरी व झांसी लोकसभा क्षेत्र में 63-63 प्रतिषत तथा सबसे कम 50.87 फीसद मतदान शाहजहांपुर लोकसभा क्षेत्र में हुआ। मतदान के साथ ही इस चरण में पूर्व केन्द्रीय मंत्रियों सलमान खुर्शीद, श्रीप्रकाश जायसवाल और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव समेत कई सियासी दिग्गजों समेत 152 उम्मीदवारों का राजनीतिक भविष्य ईवीएम में कैद हो गया। लोकसभा के अलावा खीरी जिले की निंघासन विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव के लिए वोट डाले गए।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि चैथे चरण में सोमवार को प्रदेश की 13 लोकसभा सीटों शाहजहांपुर, खीरी, हरदोई, मिश्रिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन, झांसी और हमीरपुर के लिये मतदान हुआ। मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक चला। उन्होंने बताया कि शाहजहांपुर में 50.87 फीसद, खीरी में 63, हरदोई में 57.49, मिश्रिख में 56.20, उन्नाव में 59.33, फर्रुखाबाद में 59.37, इटावा में 56.46, कन्नौज में 59.48, कानपुर में 51.09, अकबरपुर में 55.80, जालौन में 56.58, झांसी में 63 और हमीरपुर में 60.91 फीसद मतदान हुआ।

इस चरण में एक करोड़ 30 लाख 83 हजार 421 पुरुष तथा एक करोड़ 10 लाख 22 हजार 629 महिलाओं समेत कुल दो करोड़ 41 लाख 784 मतदाता थे। मतदान के लिये 17011 केन्द्र तथा 27516 मतदेय स्थल बनाये गये थे। इनमें से 4014 मतदेय स्थल संवेदनशील की श्रेणी में रखे गये थे। मतदान को स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से सम्पन्न कराने के लिये 3459 माइक्रो आब्जर्वर, 2298 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 293 जोनल मजिस्ट्रेट, 308 स्टैटिक मजिस्ट्रेट, 13 सामान्य प्रेक्षक, सात पुलिस प्रेक्षक, 13 व्यय प्रेक्षक तथा 67 सहायक व्यय प्रेक्षक तैनात किये गये थे।

इस चरण में पूर्व केन्द्रीय मंत्रियों सलमान खुर्शीद, श्रीप्रकाश जायसवाल, उत्तर प्रदेश के मौजूदा कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचैरी, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव, साक्षी महाराज और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया जैसे राजनीतिक दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी थी। चैथे चरण में जिन सीटों पर चुनाव हो रहा है, उनमें से वर्ष 2014 के पिछले लोकसभा चुनाव में कन्नौज को छोड़कर बाकी सभी सीटों पर भाजपा के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की थी।

– ईएमएस