मंदिर में दर्शन के लिए मंत्री की वीवीआईपी एंट्री पर लड़की ने जताई आपत्ति, मंत्री ने मांगी माफी


कर्नाटक के एक मंत्री को उस समय शर्मिंदगी झेलनी पड़ी जब वे एक मंदिर में दर्शन के लिए विशेष दर्जे के तहत प्रवेश करने वाले थे।
Photo/Twitter

बेंगलुरु । कर्नाटक के एक मंत्री को उस समय शर्मिंदगी झेलनी पड़ी जब वे एक मंदिर में दर्शन के लिए विशेष दर्जे के तहत प्रवेश करने वाले थे। दरअसल, विजयपुरा स्थित शिव मंदिर में दर्शन करने गए कर्नाटक के गृहमंत्री एमबी पाटिल को एक युवती ने दर्शन के लिए लाइन से आने के लिए कहा। मंत्री को मंदिर में दर्शन के लिए वीवीआईपी प्रवेश दिया गया था इसकी वजह से मंदिर के बाहर घंटों से इंतजार कर रहे श्रद्धालुओं को असुविधा हुई। इस पर एक लाइन में खड़ी एक युवती ने एमबी पाटिल से कहा, ‘आपको लाइन में आना चाहिए था।’

दरअसल एमबी पाटिल को मंदिर में दर्शन के लिए जिस वक्त वीवीआईपी छूट दी गई, उस समय मंदिर के बाहर सैकड़ों लोगों की कतार लगी थी। जैसे ही मंत्री मंदिर में आए, मंदिर प्रशासन ने उनके और उनके साथ आए लोगों के लिए विशेष दर्शन के इंतजाम किए। इससे झल्लाते हुए एक युवती ने प्रशासन से शिकायत की और मंत्री के पंक्ति से हटकर सीधे दर्शन करने पर आपत्ति जाहिर की। युवती ने कहा, ‘हम लगभग एक घंटे से खड़े हैं। आपको कतार में आना चाहिए। आप मंत्री हो सकते हैं लेकिन आपको हम सभी की तरह कतार में खड़ा होना होगा। आप विशेष ट्रीटमेंट की अपेक्षा नहीं कर सकते हैं। युवती का विरोध सुनते ही एमबी पाटिल ने उससे माफी मांगी और उन्हें जल्दी में दर्शन करने के लिए सफाई दी। उन्होंने बताया कि उन्हें फ्लाइट पकड़नी है और दो जरूरी मीटिंग में शामिल होना है, जिन्हें वह किसी भी हालत में मिस नहीं कर सकते। इसके बाद एमबी पाटिल ने युवती से हाथ मिलाया और तस्वीरें क्लिक कराईं।

– ईएमएस