महिला उद्यमी ने 2 दिन मुंबई में जासूसी करके 36 लाख की धोखाधड़ी के आरोपियों को पकड़वाया


इंदौर की महिला उद्यमी किरण ने मुंबई पहुंचकर व्हाट्सएप फेसबुक इंस्टाग्राम और ट्विटर की मदद से आरोपियों के ऑफिस के पते खोजे।

इंदौर। 36 लाख की धोखाधड़ी का केस इंदौर में दर्ज होने के बाद भी पुलिस आरोपियों को तलाश नहीं कर पा रही थी जिसके कारण धोखाधड़ी के शिकार हुए लोग पुलिस के चक्कर लगाकर परेशान थे। इंदौर की महिला उद्यमी किरण ने खुद आरोपियों को पकड़ने की ठानी।वह अकेली मुंबई पहुंची, व्हाट्सएप फेसबुक इंस्टाग्राम और ट्विटर की मदद से उन्होंने आरोपियों के ऑफिस के पते खोजे। विक्रोली स्थित जैना इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का पता लगाया। आरोपियों का पीछा किया। आरोपी उपमा की जानकारी उसे लगी। उसने देर रात तक पीछा करते हुए उसे बहुमंजिला अपार्टमेंट में जाते हुए देखा। रात 2 बजे सातवीं मंजिल में रहने वाली उपमा के फ्लैट की लाइट जलने से उसने उसका फ्लैट नंबर कंफर्म किया। इसकी सूचना पुलिस को दी। इंदौर की पलासिया पुलिस महिला उद्यमी से प्राप्त जानकारी के आधार पर मुंबई पहुंची, और उसने उपमा को गिरफ्तार किया।

इंदौर पुलिस के लिए वैसे तो यह शर्म की बात है। अपराधियों के खिलाफ अपराध दर्ज करने के बाद भी पुलिस के द्वारा अपराधियों को पकड़ने की कोई रुचि नहीं दिखाई। जिसके कारण अपराधी भी बेखौफ होकर अपराध करते हैं, और भाग जाते हैं। लेकिन महिला उद्यमी किरण सिंह ने साहस का परिचय देते हुए पुलिस के काम को चुनौती दी है।

– ईएमएस