सुमित्रा महाजन ने इंदौर लोकसभा सीट को लेकर भाजपा के असमंजस को दूर किया


(Photo: IANS)

चुनाव न लड़ने की सुमित्रा महाजन ने स्वयं ही घोषणा कर दी

भारतीय जनता पार्टी के दो सबसे वरिष्ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का टिकट काट दिये जाने के बाद लोकसभा स्पीकर और आठ पर सांसद रह चुकीं वरिष्ठ भाजपा नेता सुमित्रा महाजन ने शुक्रवार को स्वयं घोषणा कर दी कि वे आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने पार्टी को पत्र लिखकर कहा कि चुंकि उन्हें टिकट देने को लेकर पार्टी में असमंजस की स्थिति है इसलिये मैं स्वयं ही अपनी दावेदारी से हट जाती हूं। अब पार्टी जल्द से जल्द मध्यप्रदेश की इंदौर सीट से अपना उम्मीदवार घोषित करे।

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश की २९ सीटों में से १८ सीटों पर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जा चुकी है। भाजपा का गढ़ माने जाने वाले इंदौर को लेकर पार्टी में असमंजस बना हुआ है। नित नये नामों को लेकर चर्चाएं हो रही थीं। यह भी चर्चा थी कि भाजपा अलाकमान लालकृष्‍ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की तरह सुमित्रा महाजन को भी इस बार मैदान में उतारने के मुड़ में नहीं हैं। इन्हीं सब घटनाक्रमों के बाद सुमित्रा महाजन ने स्वयं ही निर्णय लेकर पार्टी के लिये रास्ता आसान कर दिया।

 

जानकारों का मानना है कि सुमित्रा महाजन ने समझदारी भरा फैसला लिया है। यदि पार्टी उन्हें टिकट न देती, तो उन्हें असहज परिस्थितियों से गुजरना पड़ता। अब कम से कम वे अपने आत्म सम्मान को कायम रख पायेंगी।