पति ने फोन पर दिया तलाक, पुलिस ने दर्ज नहीं की रिपोर्ट


हैदराबाद में मोहम्मद मुजामिल शरीफ ने बेटी पैदा होने पर अपनी पत्नी सुमैया बानू को फोन पर तीन बार बोल कर तलाक दे दिया।

हैदराबाद। हैदराबाद में एक प्राइवेट हाईस्कूल के प्रिंसिपल मोहम्मद मुजामिल शरीफ ने बेटी पैदा होने पर अपनी पत्नी सुमैया बानू को फोन पर तीन बार बोल कर तलाक दे दिया। जब महिला इसकी शिकायत करने पुलिस में गई, तो पुलिस ने दहेज एक्ट के तहत तो केस दर्ज कर लिया, लेकिन ट्रिपल तलाक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज नहीं की। स्कूल प्रिंसिपल मोहम्मद मुजामिल शरीफ और सुमैया की शादी 6 जनवरी 2017 को हुई थी। सुमैया का आरोप है कि शादी के बाद से ही उसका पति और उसके ससुराल वाले दहेज के लिए उसे प्रताड़ित करने लगे। कुछ महीने पहले सुमैया ने एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म के बाद से ही सुमैया के पति ने उससे नाता तोड़ लिया। सुमैया को अपने पिता के घर जाना पड़ा। करीब 20 दिन पहले सुमैया के मोबाइल पर उसके पति मोहम्मद मुजामिल शरीफ ने फोन करके 17 सेंकड बातचीत की और इन्हीं 17 सेंकड ने सुमैया की दुनिया बदल दी। उसके पति ने उसे फोन पर ही तीन बार तलाक बोल दिया।

चारों तरफ से निराशा हाथ लगने के बाद सुमैया ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने दहेज एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है, लेकिन जब सुमैया ने ट्रिपल तलाक अध्यादेश के तहत कार्रवाई करने की मांग की, तो पुलिस ने यह कहकर टाल दिया कि जांच के दौरान अगर ज़रूरत पड़ी तो कानून की और धाराएं जोड़ी जा सकती हैं। ट्रिपल तलाक के खिलाफ लाए गए अध्यादेश मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राइट ऑन मैरिज ऑर्डिनेंस’ 2018 के तहत पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है। सुमैया का कहना है कि अब तक उसके पति को भी पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है।

– ईएमएस