हिंन्दू-मुस्लिम भाईचारे के संदेश के साथ दो मित्रों की बाइकयात्रा सूरत पहुंची


हिंदू-मुस्लिम भाइचारे के संदेश के साथ अलग-अलग धर्म के युवक कर्नाटक से बाइक यात्रा पर निकले हैं। वे सूरत पहुंचे। कर्नाटक के बेलगाम निवासी मो. हुसैन काजी और सुनील मराठे नामक दो युवक ६ मार्च को कर्नाटक से रवाना हुए थे और तीनों में सूरत आ गये।

कर्नाटक के हुबली से यात्रा शुरू करके वे बेलगाम, कोल्हापुर होकर मुंबई गये। मुंबई में सि‌द्धिविनायक के दर्शन किये और हाजीअली में बंदगी करके सूरत पहुंचे। दोनों सूरत से निकल कर अहमदाबाद और फिर अजमेर-दिल्ली-बरेली होते हुए लखनऊ, नागपुर, गुलबर्ग की यात्रा करके हुबली लौटेंगे।

बाइक यात्रा लेकर निकले दोनों युवकों ने बताया कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। कोई भी धार्मिक गंथ जैसे कि भगवत गीमा, कुरान या बाईबल – किसी में कहीं हिंसा का समर्थन नहीं किया गया है। हमारा एकमात्र उद्देश्य लोगों तक शांति का पैगाम पहुंचाना है। हम चाहते हैं कि देश के लोग आपस में भाईचारे के साथ प्यार से रहें।