सरकार का निर्णय: माता पिता की सेवा नहीं करने वाले बच्चों के लिए जेल की सलाखें


(Photo Credit : psychiatryadvisor.com)

बिहार में अब बुजुर्ग माता-पिता की सेवा नहीं करने वाले बच्चों को जेल जाना पड़ सकता है। बिहार कैबिनेट में मंगलवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि बिहार में रहने वाले बच्चों को उनके माता-पिता की सेवा न करने पर जेल की सजा हो सकती है। ऐसे बच्चों के खिलाफ तभी कार्रवाई की जाएगी, जब उनके माता-पिता की शिकायत मिलेगी।

बिहार के मुख्यमंत्री न‌ितीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित बैठक में कुल 15 प्रस्तावों पर  मोहर लगी। एक अधिकारी ने बैठक के बाद पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी घटनाओं में शहिद बिहार के जवानों के आश्रितों को नौकरी देने का फैसला किया है।

समाज कल्याण विभाग के एक प्रस्ताव पर मंत्रीमंडल ने केंद्र सरकार द्वारा 2007 में बनाए गए माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण और कल्याण अधिनियम में संशोधन किया। पहले प्रताड़ित किए गए माता-पिता को न्याय प्राप्त करने के लिए, जिला पारिवारिक अदालत में अपील दायर की जानी होती थी, जहाँ मुख्य न्यायाधीश स्तर पर सुनवाई होती है। अब अभिभावक जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठ‌ित अपील अधिकरण में अपील करेंगे। डीएम ही मामले की सुनवाई करेंगे। बूढ़े माता-पिता का खयाल नहीं रखने पर अब बच्चों को होगी जेल।