दिल्ली के दमकल विभाग में होंगे अत्याधुनिक बदलाव


Picture Credit: delhi.gov.in

नई दिल्ली (ईएमएस)। दिल्ली का दमकल विभाग बहुत जल्द अत्याधुनिक (अल्ट्रा मॉडर्न) होने जा रहा है। अभी हाल में करोलबाग होटल अग्निकांड में 17 लोगों की जान चली गई। इससे पहले पहाड़गंज और सदर बाजार की तंग गलियों में आग ने कई लोगों की जान ले ली। मगर आगे इस पर ब्रेक लगाना आसान हो जाएगा क्योंकि दिल्ली में आग बुझाने का काम सिर्फ दमकलकर्मी ही नहीं बल्कि रोबोटिक हाथ और रिमोट कंट्रोल भी करेंगे। इसका जिम्मा दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) को दिया गया है। डीएमआरसी को मॉडर्न औजार और उपकरण आयात करने के लिए दमकल विभाग ने 29 करोड़ रुपए जारी भी कर दिए हैं।

दिल्ली फायर सर्विस के डायरेक्टर जीसी मिश्रा ने इस बात की पुष्टि की है कि दिल्ली को कई तरीके से फायदा पहुंचाने का काम किया जा रहा है। आग से निपटने के लिए दिल्ली को ऐसे कई औजार मिलेंगे जिससे करोलबाग जैसी भीषण घटना पर कम समय में काबू पाया जा सके। अर्पित होटल की तरह आग अगर किसी ऊपरी मंजिल पर लगी होगी तो न केवल रोबोटिक हाथ ऊपरी माले तक आसानी से पहुंच जाएंगे बल्कि बिना आग वाली इमारत में घुसे बिना ही बाहर से आग बुझाई जा सकेगी।

रिमोट कंट्रोल डिवाइस से ये फायदा होगा कि पतली गलियों और टनल में बेहद आसानी से जा सकेगा जहां जाने में फायर फाइटर की जान को काफी जोखिम होता है। ये डिवाइस झुग्गी-झोपड़ी (जेजे) कॉलोनियों या फिर सदर बाजार जैसी पतली गलियों के अंदर आसानी से दाखिल हो जाएगा और आग को बुझा सकेगा। ये बेसमेंट में भी दाखिल हो जाएगा। साफ है इसके इस्तेमाल से आग में जान गंवाने वालों की संख्या में कमी आएगी। जिन अवैध कॉलोनियों में दमकल की छोटी या बड़ी गाड़ियां नहीं जा सकतीं, रिमोट कंट्रोल डिवाइस वहां आसानी से दाखिल हो जाएगा।

इन अल्ट्रा मॉडर्न डिवाइस में थर्मल इमेजिंग कैमरे की मदद से किसी भी बिल्डिंग के अंदर आसानी से देखा जा सकता है कि आग किन किन हिस्सों में लगी है। अभी तक दमकल विभाग को आग की सटीक स्थिति पता करने और खतरा भांपने में काफी समय जाया होता रहा है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि ड्रोन उड़ाकर आग लगी इमारत में दाखिल हुए बिना ही, नीचे से दमकल गाड़ियों को आदेश दिया जा सकता है। अक्सर जेजे कॉलोनियों में सैकड़ों झुगिग्यां जल जाती हैं। अब वहां ड्रोन उड़ाकर आग की हालत का जायजा लिया जा सकता है और उसी हिसाब से फौरी कार्रवाई की जा सकती है।
विपिन/ईएमएस 25 फरवरी 2019