फानी चक्रवात, 30 अप्रैल से 1 मई के बीच पहुंच सकता है तमिलनाडु, रेड अलर्ट जारी


भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि 30 अप्रैल से लेकर 1 मई के बीच फानी चक्रवात तमिलनाडु के उत्तरी तट पर पहुंच सकता है।

चेन्नई । भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि 30 अप्रैल से लेकर 1 मई के बीच फानी चक्रवात तमिलनाडु के उत्तरी तट पर पहुंच सकता है। इसके तहत राज्य में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। चक्रवात के पहुंचने से पहले ही तमिलनाडु और दक्षिण भारतीय राज्यों में मौसम के बेहद खराब होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। करीब छह महीने पहले गाजा चक्रवात से भी भीषण तबाही हुई थी। मौसम विभाग ने तमिलनाडु और पुडुचेरी में मूसलाधार बारिश की संभावना व्यक्त की है। मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। स्थानीय लोगों को भी सुझाव दिया गया है कि वे उन स्थानों पर न जाएं, जहां भूस्खलन की आशंका रहती है। तूफान का असर केवल तमिलनाडु तक सीमित नहीं रहेगा, इसकारण पुडुचेरी, केरल और कर्नाटक के लोगों को भी अलर्ट रहने का सुझाव दिया गया है।

मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से केरल और अन्य दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश की भविष्यवाणी भी की है। शुक्रवार से ही तमिलनाडु में तेज हवाओं के चलने के आसार हैं। 29 अप्रैल को एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर और मलप्पुरम के लिए एक ‘येलो अलर्ट’ जारी किया गया है। अगर फानी चक्रवात के तमिलनाडु पहुंचने की आईएमडी की भविष्यवाणी सही साबित होती है,तो नवंबर 2018 में गाजा चक्रवात के तबाही मचाने के बाद प्रदेश की जनता के लिए मौसम के प्रकोप को झेलने का यह दूसरा मौका होगा। तब 40 लोगों की मौत हो गई थी। तमिलनाडु में सरकार अलर्ट हो गई है, ताकि चक्रवात के आने की स्थिति में कम से कम नुकसान हो।

– ईएमएस