वेलेन्टाइन डे पर पत्नी को मौत का तोहफा देनेवाला पति 15 साल बाद गिरफ्तार


अपनी ही पत्नी की हत्या करके फरार एक व्यक्ति को 15 साल बाद बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। आरोपी की गिरफ्तारी क्राइम ब्रांच और अहमदाबाद पुलिस ने की है।

अहमदाबाद (ईएमएस)| अपनी ही पत्नी की हत्या करके फरार एक व्यक्ति को 15 साल बाद बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। आरोपी की गिरफ्तारी क्राइम ब्रांच और अहमदाबाद पुलिस ने की है। आरोपी बेंगालुरू स्थित एक मल्टीनैशनल कंपनी में सीनियर एग्जिक्यूटिव के पद पर काम कर रहा था।

जानकारी के मुताबिक तरुण पर आरोप है कि उसने अपनी पत्नी सजनी को 14 फरवरी 2003 को मार डाला था। वह बैंक में काम करती थी। तरुण ने पुलिस से कहा था कि उसके फ्लैट में डकैती की दौरान बदमाशों ने सजनी को मार डाला और कीमती सामान लेकर फरार हो गए। पुलिस डकैती के मामले में जांच कर रही थी और उन्हें किसी अंदर के व्यक्ति पर शक था। हालांकि तरुण सजनी की हत्या के दो दिन बाद ही लापता हो गया।

पुलिस ने तरुण के माता-पिता, भाई, भाभी और दूसरे रिश्तेदारों से पूछताछ की लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। इस केस में लापरवाही का आरोप लगाते हुए सजनी के माता पिता ने तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मदद मांगी थी। सजनी के परिजनों का आरोप था कि तरुण उनकी बेटी के हत्या करके अपनी गर्लफ्रेंड के साथ फरार हो गया। उसके बाद पुलिस ने केस की चार्जशीट फाइल करने के पहले तरुण के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

पुलिस ने तरुण की पूर्व गर्लफ्रेंड से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसकी शादी हो चुकी है और उसका तरुण से कोई संपर्क नहीं है। पुलिस ने तरुण की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी की और कई राज्यों की पुलिस से भी मदद मांगी लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। दूसरी ओर तरुण ने फर्जी दस्तावेजों की मदद से अपना नाम बदलकर प्रवीण कर लिया था इसलिए उसे पकड़ना पुलिस के लिए मुश्किल हो रहा था| पुलिस ने तरुण के घरवालों का मोबाइल सर्विलांस पर लगाया तो पाया कि बेंगलुरु के एक नंबर पर उन लोगों की रोज बात होती है। उसके बाद से पुलिस ने तरुण (प्रवीण) को फॉलो करना शुरू किया। वह ऑफिस में नाइट शिफ्ट कर रहा था उसी दौरान उसे गिरफ्तार कर लिया गया। तरुण ने बेंगलुरु में दूसरी शादी कर ली थी और उसके दो बच्चे हैं। पुलिस अब इस बात की पड़ताल कर रही है कि तरुण ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए कैसे नौकरी हासिल की। इतना ही नहीं जब कंपनी से कर्मचारी का सत्यापन होता है तो वह कैसे हो गया?