चुनाव के दो दीन पहले दांतेवाडा(छत्तीसगढ़) में विधायक पर हुआ नक्सली हमला


(Photo Credit : timesnownews.com)

छत्तीसगढ़ मे माववादीयों ने भाजपा की प्रचार रैली को निशाना बना कर हमला किया। हमले में एक ‌विधायक की मौत हो गई तथा 4 जवान भी शहीद हो गए। लोकसभा चुनाव के 2 दिन पहले हुए इस हादसे का बुरा प्रभाव पड़ा है। छत्तीसगढ़ के दांतेवाडा में भाजपा के विधायक भीमा मांडवी उनके अन्य साथी नेताओं तथा सुरक्षा जवानों के साथ काफिला लेकर जा रहे थे जिसको माववादियों ने निशाना बनाया।

(Photo Credit : jagran.com)

माववादियों ने IED explosives से वाहनों को उड़ाया और नेताओं पर अंधाधून गोलीबारी कर दी। गोलीबारी में विधायक भीमा मांडवी की स्थल पर ही मौत हो गई इसके अलावा उनके साथ के 4 सुरक्षा जवान भी शहीद हो गई तथा कुछ गम्भीर रूप से घायल। घटना के पश्चात जवानों का बड़ा काफिला घटना स्थल पर आ पहुंचा तथा आसपास के जंगलों में हमले के बाद छुपे नक्सलीयों के विरुद्ध ऑपरेशन प्रारंभ किया। विस्फोट इतना भयानक था कि रोड़ पर बड़ा खड्डा हो गया तथा विधायक के वाहन के चिथड़े चिथड़े उड़ गए।

(Photo Credit :gstv.in)
(Photo Credit : indiatoday.in)

दांतेवाड़ा बस्तक लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है। तथा इसे नक्सलीयों का गढ़ भी माना जाता है। यहां घने जंगलों के कारण नक्सली आसानी से हमला करके जंगल में छुप जाते हैं। यह पहली बार नहीं है के नक्सलीयों ने किसी नेता के काफिले पर हमला किया हो तथा मारा हो। इससे पहले 2013 में भी बस्तर में कांग्रेस के नेता महेन्द्र कर्मा तथा पूर्व केन्द्रीय प्रधान वी. के. शुक्ला के साथ 27 लोगों की नक्सलीयों ने हत्या कर दी थी। बक्सर में नक्सली काफी सक्रीय है।

इस हमले के बाद प्रधान मंत्री मोदी ने कहा की जवानों की शहादत को सलाम करता हुं तथा उनका बलीदान व्यर्श नहीं जाएगा। राजनांथ सिंह ने कहा कि उन्होने पीड़िटों के परिवार से बातचीत की है तथा वे वहां के मुख्य भुपेष बदेल तथा पुलिस के साथ सम्पर्क में हैं।

(Photo Credit : Abplive.in)

इस सीट पर लोकसभा चुनाव प्रथम चरण के मतदान आने वाली 11 तारीख(कल) को आयोजित होंगे। बस्तर में 70 हजार सुरक्षा जवान तैनात है, साथ ही ड्रोन की मदद से नजर भी रखी जा रही है। हर बूथ पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।