कोरोना : पोजीटीव रिपोर्ट आने पर फ्रांस से लौटे डॉक्टर का हंगामा; मुंबई में क्वारंटाइन से भागे 15 लोग धराये


गाजियाबाद (ईएमएस)। गाजियाबाद जिले में कोरोना वायरस का तीसरा मामला सामने आया है। फ्रांस से वापस लौटे वसुंधरा निवासी निजी डॉक्टर में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमित डॉक्टर को जिला एमएमजी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां आते ही डॉक्टर ने हंगामा खड़ा कर दिया और मानवाधिकार आयोग में कार्यरत ससुर के हवाले से उच्चाधिकारियों को फोन करा दिया। इसके बाद उसने खुद को सफदरजंग अस्पताल रेफर करा लिया। यहां उसे आइसोलेशन में रखा गया है।

मुंबई में क्वारंटाइन से भागे 15 लोग धराये

उधर कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते पूरे महाराष्ट्र में ३१ मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. लेकिन कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन न करके खुद को और दूसरों को खतरा पहुंचा रहे हैं. ऐसा ही मामला मुंबई में सामने आया जब क्वारंटाइन सुविधा से 15 लोग भाग गए. हालांकि उन्हें जल्द ही दबोच लिया गया.

बताया गया है कि ये सभी दुबई से मुंबई लौटे थे. एक अधिकारी के अनुसार सभी १५ लोग पंजाब से थे और इनके हाथों में क्वारंटाइन स्टैंप भी लगा हुआ था. क्वारंटाइन कैंप से भागकर उन्होंने अंधेरी से एक लोकल ट्रेन पकड़ी और खार पहुंचे जहां उन्हें ट्रैक कर लिया गया.

गौरतलब हो कि राज्य मंत्रालय ने एजेंसियों को निर्देश दिया हुआ है कि बाहर से आने वाले सभी यात्रियों को सेल्फ क्वारंटाइन का स्टैंप लगाया जाए और यह चेक किया जाए कि वे दिशा-निर्देश का पालन कर रहे हैं या नहीं. मुंबई कलेक्टर, मनपा के अधिकारी और पुलिस की एक टीम गठित की गई जो क्वारंटाइन सुविधा से भागे 15 लोगों के बाद से अलर्ट पर थी. वरिष्ठ इंस्पेक्टर गजानन कब्दुले ने कहा, ‘हमें खार में भागे हुए संदिग्धों की जानकारी मिली. हमारी टीम रेलवे स्टेशन गई और उन्हें पकड़कर मनपा अधिकारी और कलेक्टर के हवाले कर दिया गया. उनके हाथों में क्वारंटाइन स्टैंप लगा हुआ था.’