फेल होने पर विद्यार्थी ने की आत्महत्या, IAS अधिकारी ने अपने अंक शेयर कर दिया लोगों को संदेश


(Photo Credit : thebetterindia.com)

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ के एक 18 वर्षीय छात्र ने बोर्ड परीक्षा में फेल होने के कारण आत्महत्या कर ली। छात्र दूसरी बार फेल हुआ था, इसलिए उसने आत्महत्या कर ली। इस बीच, एक IAS अधिकारी ने फेसबुक पर अपने बोर्ड परीक्षा के अंक साझा करके अन्य छात्रों को प्रेरणा देते हुए यह समझाया कि जीवन में कम अंक या असफलता से जीवन का अंत नहीं हो जाता। आपके अंदर छुपी हुई क्षमता आपको आगे जाकर आपको अच्छा मौका देगी।

IAS अधिकारी अवनीश कुमार शरण 2009 बैच के हैं। वर्तमान में कबीरधाम जिले, छत्तीसगढ़ के जिला मजिस्ट्रेट हैं। जैसे हि उन्होंने पढ़ा कि छत्तीसगढ़ बोर्ड रिजल्ट में एक छात्र ने परीक्षा में असफल होने के कारण आत्महत्या कर ली है। तो वह बहुत दुखी हुए। उन्होंने फेसबुक पर छात्रों से कहा कि वह निराश न हों और हार न मानें।

इसके अलावा, उसने माता-पिता से अपील की कि वे परिणाम को गंभीरता से न लें। यह एक नंबर गेम है। आपको अपनी काबिलियत साबित करने का अवसर मिलेगा। छात्रों को प्रेरित करने के इरादे से, IAS अधिकारी ने अपनी 10 वीं और 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा, कॉलेज के अंक साझा किए। उन्हें कक्षा 10 में 44.5%, कक्षा 12 में 65% और कॉलेज में 60.7% मिला। बता दें कि, उन्होंने 1996 में 10 वीं कक्षा, 1998 में 12 वीं कक्षा और 2002 में ग्रैज्युएशन की पढ़ाई पूरी की। भले ही अवनीश कुमार शरण को बोर्ड परीक्षा और ग्रैज्युएशन परीक्षा में कम अंक मिले हैं, लेकिन उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की और दिखाया कि काबिलियत प्राप्तांक प्रतिशत से नहीं मापा जा सकता।