बिहार में तीव्र बुखार के कारण मरने वालों की संख्या 93 तक पहुंची


(Photo Credit : wp.com)

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (तीव्र बुखार), के कारण मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अब तक 93 बच्चों की मौत हो चुकी है। श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के अधीक्षक सुनील कुमार शाही ने जानकारी दी। दूसरी ओर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन कल मुजफ्फरपुर पहुंचे।

बिहार के मुख्यमंत्री न‌ितीश कुमार ने तीव्र बुखार के कारण मरने वाले बच्चे के परिवार को 4 लाख रुपये की राहत देने की घोषणा की है। इसके अलावा, मुख्यमंत्री न‌ितीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन और डॉक्टरों को बीमारी को दूर करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है।

उधर, बिहार के गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में बुखार के कारण 12 लोगों की मौत हो गई है। जिले के जिला अधिकारी ने कहा कि 12 लोगों में से 7 लोग गया के हैं, 2 औरंगाबाद, 1 छपरा, 1 नवादा और एक शेखपुरा का है। यहां 25 मरीज अभी दाखिल हैं।

जिला अधिकारी अभिषेक सिंह ने कहा कि अस्पताल में पर्याप्त व्यवस्था है। 6 वरिष्ठ डॉक्टर और 10 प्रशिक्षुओं को वहां भेजा गया है। मृतक के परिवार को 4 लाख रुपये की सहायता राशि मिलेगी। जो भी परिवार बी.पी.एल. श्रेणी का है उनके अंतिम संस्कार के लिए 20 हजार रुपये भी दिए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि 15 वर्ष तक के बच्चों को यह बीमारी हुई है। मृतक बच्चों में उम्र एक से सात साल के बच्चे अधिक हैं। डॉक्टरों के अनुसार, इस बीमारी का मुख्य लक्षण तीव्र बुखार, उल्टी, मूत्राशय, बेचैनी और शरीर के अंगों में अचानक भड़कना है।