ड्राइवर ने गुटखा खाने के चक्कर में बस का स्टेयरिंग छोड़ दिया और….


(Photo Credit : livehindustan.com)

ड्राइवर की गुटखा खाने की लत के चलते हुआ बस का एक्सीडेंट
बस पलटने से 12 यात्री हुए घायल

भागलपुर (ईएमएस)। बस ड्राइवर की लापरवाही बस में बैठे या‎‎त्रियों के ‎लिए भारी पड़ गई। ड्राइवर ने गुटखा खाने के लिए स्टेयरिंग छोड़ दी ‎जिससे बांका से भागलपुर आ रही बलराम श्री यात्री बस पलट गयी। हादसा हबीबपुर थाना क्षेत्र के दाऊद वाट सड़क पर हुआ। चालक की इस लापरवाही से दर्जनभर यात्री घायल हो गए। गंभीर रूप से एक बच्चे स‎हित पांच महिलाओं को इलाज के लिए जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामूली रूप से घायल छह लोगों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

ड्राईवर ने स्टेयरिंग छोड़ा और बस पलटी

घायलों ने बताया कि खेसर से अमरपुर के रास्ते बस दिन के करीब 11 बजे भागलपुर आ रही थी। चालक तेज रफ्तार से बस चला रहा था। यात्रियों ने चालक को धीरे चलाने के लिए भी कहा था। सामने से जा रही एंबुलेंस को ओवरटेक करने की को‎शिश भी ड्राइवर लगातार कर रहा था। उस वक्त ही उसने स्टेयरिंग छोड़कर गुटखा खाने लगा। अचानक ब्रेक लेने पर बस का संतुलन बिगड़ गया और बस सड़क पर पलटी खाकर गिर गई। संयोग था कि उसवक्त सड़क से राहगीर नहीं गुजर नहीं रहे थे। अन्यथा बड़ी घटना भी हो सकती थी।

सौभाग्य से जानहानि नहीं

बस दुर्घटना के बाद आधे घंटे तक सड़क पर लोगों की भीड़ जुट गई थी। इससे जाम लग गया था। दुर्घटना की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़े और बस से यात्रियों को निकाला। टेम्पो से यात्रियों को खाली कराकर घायलों को अस्पताल भेजा गया। घटना से बस सवार यात्री डरे हुए थे। मौके पर पहुंची हबीबपुर थाने की पुलिस ने स्थानीय लोगों के सहयोग से गंभीर रुप से घायलों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल और मामूली रुप से घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया। घायलों में एक की हालत चिंताजनक बनी हुई है। पुलिस ने बस को जब्त कर लिया है। चालक व खलासी फरार है।

घायलों की सूचि

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बांका जिले के अमरपुर थाने के सुराहा शाहपुर गांव की मंगली देवी, अमरपुर सतघरा गांव की पांचों देवी, तेलिया गांव की दुर्गा देवी, कजरैली थाने के गोराचक्की गांव के पुसो यादव और सतघरा के प्यूष कुमार शामिल है। वहीं सदर अस्पताल में लोदीपुर थाने के विशनपुर जिछो गांव के रंजन कुमार, कजरैली कुमरथ के शैलेन्द्र कुमार, अमरपुर शाहपुर के शिवाय महतो और शंभूगंज के रामधर सिंह शामिल हैं। कई जख्मी घटना के बाद घर चले गए।