अलवर में युवक बाइक पर ले जा रहे थे लड़की की लाश, पुलिस का क्या रहा रवैया


(Photo Credit : youtube.com)

अलवर के नैशनल हाइ-वे 48 पर सोमवार को लोगों ने एक बाइक पर एक युवती का शव ले जाते हुए 2 लोगों को देखा। कहा जा रहा है कि कोटपूतली से बहरोड तक लड़की के शव को ले जाया गया। वे लगभग 22 किमी इसी तरह बाइक पर घूमे जिस दौरान कई लोगों ने उन्हे देखा। जयपुर की रहने वाली एक लड़की ने हाईवे पर पेट्रोलिंग कर रही पुलिस को इस बात की जानकारी दी। लेकिन किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। और ना ही उन्होने उनको रोकने की कोशिश की।

शिकायत करने वाली लड़की (रवीना) ने कहा, “मैं दिल्ली से जयपुर जा रही थी। मैंने देखा कि एक बाइक पर सवार दो लोग एक लड़की को ले जा रहे थे। लड़की ने चप्पल नहीं पहनी थी और ऐसा लग रहा था कि उसके शरीर में कोई दम नहीं है। मुझे लगा कि अपहरण का मामला है। तो तुरंत मैने हाईवे पर खड़ी पुलिस को इस बारे में जानकारी दी। पुलिसकर्मी ने कहा- यहां तो ऐसा चलता रहता है, तुम जाओ।

पुलिस के रवैये को देखकर लड़की ने कार पर बाइक का पीछा किया और उन्हें सड़क पर रोक दिया। लड़की ने इसके बारे में पुलिस को सूचित किया। लेकिन इससे पहले कि पुलिस वहां पहुंचती युवक ने कहा, “यह हमारे परिवार की लड़की है, लड़की बेहोश हो गई है इसलिए वह उसे इलाज के लिए ले जा रहे हैं।” लेकिन जांच करने के बाद पता तला की लड़की की मौत हो चुकी है।

जब हाईवे पैट्रोल पुलिस ने जांच की तो पाया गया कि वे लोग उत्तर प्रदेश के एक मुस्लिम परिवार के निवासी थे। लड़की के इलाज के लिए वे उसे कोटपुतली ले गए थे। जहां लड़की की मौत हो गई थी। यह जानकारी मिलने के बाद हाइवे पुलिस ने कहा कि मामला बानसूर का है और बानसूर थाना पुलिस को बिना सूचना दिये तथा बिना कोई और कार्यवाही किये लौट गई। शिकायत करने वाली लड़की का कहना था कि बाइक सवार लड़की पहले से ही मृत प्रतीत हो रही थी।