बम बनाने का सामान और उपकरण बरामद


इलाहाबाद विश्वविद्यालय के तारा चंद्र हॉस्टल में पुलिस की छापेमारी में बम बनाने के उपकरण और असलहे बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं।
Photo/Twitter

छापेमारी के बाद इलाहाबाद ‎विश्व‎विद्यालय के हॉस्टल के 58 कमरे सील

इलाहाबाद । इलाहाबाद विश्वविद्यालय में दो दिन पहले पीसीबी हॉस्टल में छात्र की हत्या के बाद हाईकोर्ट द्वारा लगाई गई फटकार के बाद पुलिस प्रशासन ने तारा चन्द्र हॉस्टल में छापेमारी की तो पुलिस के होश उड़ गए। प्रयागराज के इलाहाबाद विश्वविद्यालय के तारा चंद्र हॉस्टल में पुलिस की छापेमारी में बम बनाने के उपकरण और असलहे बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं। पुलिस की छापेमारी में 58 कमरों को सील किया है और कई गाड़ियां भी बरामद की गई हैं। पुलिस की विश्वविद्यालय प्रबंधन के साथ तीन घंटे की छापेमारी के दौरान अफरा-तफरी का माहौल रहा पुलिस ने एक-एक कमरों की गहन तलाशी ली और हॉस्टल के कमरों में अवैध रूप से कब्जा जमाए छात्रों को कमरे से बेदखल किया। पुलिस ने हॉस्टल को खाली कराने के लिए अर्धसैनिक बल की भी मदद ली। भारी मात्रा में पुलिस फोर्स छापेमारी की कार्रवाई के दौरान मौजूद रही।

पुलिस ने कमरों से नकली पिस्टल, देशी बम बनाने के लिए सुतली व बारुद बरामद हुआ है। इसके साथ ही सैकड़ों अवैध कूलर व अन्य सामान को पुलिस प्रशासन ने जब्त किया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी हॉस्टल में बढ़ रहे अपराध पर नाराजगी जताई है। हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेकर मामले की सुनवाई शुरू की। हाईकोर्ट ने 22 अप्रैल को प्रमुख सचिव गृह, कमिश्नर, डीएम व एसएसपी प्रयागराज से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है। रविवार देर रात हुई इस घटना और छात्रों में बढ़ता आक्रोश देखकर हॉस्टल के आसपास पुलिस बल तैनात कर दिया गया। वहीं मृतक छात्र के परिजनों ने मृतक के साथी आदर्श त्रिपाठी और अन्य 6 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है और उन पर रोहित की हत्या का शक जाहिर किया है। पुलिस अधिकारियों का मानना है कि रोहित गैंगवार में ही मारा गया है।

– ईएमएस