अगवा बच्चे का 46 घंटे बाद भी पता नहीं


नई दिल्ली (ईएमएस)। जीटीबी इंक्लेव में गुरुवार सुबह 7.30 बजे चार साल के बच्चे के अपहरण के मामले में पुलिस वारदात की वजहों को जानने में उलझी हुई है। अभी तक फिरौती के लिए किसी भी प्रकार की कोई कॉल पीड़ित परिजनों तक नहीं पहुंची है। घटना के पीछे किसी जानकार का हाथ माना जा रहा है। वहीं, जिला पुलिस के अलावा, क्राइम ब्रांच एवं स्पेशल सेल की टीमें लगी हुईं हैं। सूत्रों ने बताया कि घटना के 46 घंटे बीतने के बाद भी अभी तक पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है। शुरुआती जांच में पुलिस इसे फिरौती के लिए अपहरण की घटना मानकर चल रही थी। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हो सकता है कि मामला मीडिया में आने के कारण अपहर्ता फिरौती के लिए फोन नहीं कर रहा है। पुलिस बच्चे के पिता के व्यापारिक साङोदारों, नजदीकी रिश्तेदारों एवं नौकरों आदि की जानकारी खंगाल रही है। नौकरों से पूछताछ भी की है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि चूंकि मामला मीडिया में आ गया है इसलिए बच्चे को नुकसान पहुंचने की भी संभावना है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिसम्बर 2014 में गांधी नगर के उत्कर्ष हत्याकांड की रिपोर्टिग होने के बाद ही अपहर्ताओं ने बच्चे की हत्या कर दी थी। अनुमान है कि इसके भी पीछे परिवार के किसी निकट के व्यक्ति का हाथ हो सकता है। इसलिए पूरी डिटेल्स खंगाली जा रही है।