जाना चाहते हो घूमने के लिए कहीं बाहर, सुन लो केंद्र सरकार की यह सलाह

प्रतिकात्मक तस्वीर

आईसीएमआर ने जारी किए चौथे नेशनल सर्वे के रिपोर्ट, अब तक 67.6 लोगों में कोरोना एंटीबॉडी विकसित हुये होने का दावा

कोरोना की दूसरी लहर के कम होने के साथ ही लोगों ने बाहर जाने का प्लान बनाना शुरू कर दिया है। ऐसे लोगों के लिए केंद्र सरकार ने सलाह दी है कि यदि कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज़ ले लिए हो तभी बाहर जाने कि सोचें। केंद्र सरकार द्वारा बुधवार को जारी की गई एड्वाइजरी के अनुसार, आईसीएमआर द्वारा किए गए नए सर्वे काफी आशास्पद है, पर फिर भी किसी तरह की लापरवाही नहीं की जा सकती। जिसके चलते सभी को सावधानी बरतनी चाहिए। 
इसके पहले आईसीएमआर द्वारा किए गए चौथे नेशनल सिरो सर्वे में दावा किया गया की देश की 67.6 प्रतिशत प्रजा में कोरोना वायरस के एंटीबोडी बन चुकी है। तीसरे लहर के आने के पहले ही देश के अधिकतर नागरिकों में वैक्सीनेशन के कारण और कोरोना का शिकार बनकर ठीक हो गए होने के कारण शरीर में एंटीबॉडी बन चुकी है। हालांकि आईसीएमआर द्वारा भी इसके बावजूद सभी से कोरोना के हर नियम तथा गाइडलाइंस का पालन करने के लिए कहा गया है। क्योंकि अभी भी लगभग 40 करोड़ की प्रजा पर कोरोना वायरस का हमला हो सकता है। 
केंद्र ने कहा कि आंकड़े काफी अच्छे है। पर फिर भी ग्राउंड लेवल पर स्थानीय स्तर तथा जिला स्तर पर यह आंकड़े अलग हो सकते है। इसलिए किसी भी तरह की लापरवाही भारी पड़ सकती है। विशेषज्ञों द्वारा राज्य स्तर पर भी इस तरह से सिरो रिपोर्ट करवाने की सलाह दी गई है। विशेषज्ञों के अनुसार यदि राज्य स्तर पर इस तरह का सर्वे किया जा सके तो काफी आसानी से कोरोना के सामने लड़ने की तैयारी की जा सकती है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें