दो पुलिसकर्मियों द्वारा नन्हें बेटे के सामने बाप की पिटाई करने वाला वीडियो वायरल, हुई कार्रवाई

(Photo : Twitter.com/GauravPandhi)

बेटे को टिफिन देने जा रहा था पिता; पुलिस ने कहा छबि बिगाड़ने का प्रयास, आधा ही वीडियो किया गया वायरल

देश में एक बार फिर कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। बीते दिनों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं और इसी को देखते हुए प्रशासन लोगों से नियमों का कड़ाई से पालन करने के लिए जोर दे रही है। प्रशासन लोगों से अपील कर रही कि सभी लोग मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। इस समय के दौरान अक्सर पुलिस को आम जनता के साथ बुरा व्यवहार करते हुए पाया गया है। ऐसा ही एक मामला फिर से सामने आया है जहाँ मास्क न पहनने पर मंगलवार को मध्य प्रदेश की इंदौर पुलिस का बर्बर चेहरा देखने को मिला। इंदौर से एक वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहा है जिसमें दो पुलिस द्वारा एक रिक्शा चालक को बेरहमी से पीटा जा रहा है।
आपको बता दें कि पुलिस वाले जिस रिक्शा चालक को मार रहे है उसका नाम कृष्णा कुंजिर हैं और वो 35 वर्ष का है। मंगलवार को वह अपने पिता को टिफिन देने के लिए अस्पताल जा रहा था। उन्होंने बताया कि उसने उस समय मास्क पहन रखा था लेकिन उसका मास्क नाक से थोड़ा नीचे था। जिस पर दोनों पुलिसकर्मियों ने उसे थाने ले जाने की बात कही। जब कृष्णा ने अपने पिता के स्वास्थ्य के बारे में बताया तो दोनों पुलिसकर्मियों ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। आप वीडियो में देख सकते हैं।
इसके बाद भी ये पुलिसवाले यहीं नहीं रुके। उन्होंने परिवार की महिलाओं के साथ भी बदसलूकी की। पुलिस फोर्स बुलाकर उसे स्टेशन ले गई। इस बीच, कृष्णा का बेटा भी पुलिसकर्मियों से पिता को छोड़ देने की गुहार करता रहा लेकिन पुलिस वालों ने उसकी बात पर भी ध्यान नहीं दिया। हालांकि जब वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई की और दोनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया।
इस घटना के बाद पुलिस ने जानकारी दी कि रिक्शा चालक कृष्णा नशा करता है और उसके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस का ये भी कहना है कि जब पुलिस कृष्णा को ढूंढने के लिए उसके घर गई थी तो उस दौरान घरवालों ने पुलिस के साथ अभद्रता की। पुलिस का दावा है कि पहले तो उस शख्स ने दुर्व्यवहार किया और पुलिसवालों को गलियां भी दी। 
पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी ने कहा कि वीडियो में दिखाई दे रहे दोनों कांस्टेबलों को निलंबित कर दिया गया है और सिटी एसपी को मामले की जांच करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही ये भी कहा कि जो वीडियो वायरल हुआ है वो पूरा या असली वीडियो नहीं है। पुलिस की छवि को धूमिल करने के लिए इस वीडियो को क्रॉप किया गया है। हालांकि, दोनों ने जो किया उसके लिए उन्हें निलंबित कर दिया गया है।दूसरी ओर, कोरोना के प्रकोप के बावजूद सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले 250 से अधिक लोग पिछले पांच दिनों में जेल जा चुके हैं। जेल विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है। यह कार्रवाई सरकार के आदेश पर की गई है। इस जेल में 300 से ज्यादा लोगों को रखा जा सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें