इन बोलीवुड अभिनेताओं ने हीरो बनने के लिए छोड़ दी थी अपनी सरकारी नौकरी, आज करोड़ों लोगों के दिलों पर करते है राज

भारत में हर कोई सरकारी नौकरी करना चाहता है। सरकारी नौकरी करने के लिए हर कोई दिन-रात कड़ी मेहनत करता है। पर आज हम आपको कुछ ऐसे सितारों के बारे में बताने जा रहे है, जिन्होंने बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने के लिए अपनी सरकारी नौकरी भी छोड़ दी। इन सभी अभिनेताओं ने अपनी सरकारी नौकरी छोड़ कर फिल्म इंडस्ट्री में अपना नसीब आजमाया और सफल भी रहे।
देवानंद
90 के दशक के सबसे प्रसिद्द अभिनेता देवानंद करोड़ों लोगों के दिल पर राज करते थे। अपने उत्कृष्ट अभिनय से फिल्मी दुनिया में अलग छाप छोड़ने के पहले वह मुंबई के सेंसर बोर्ड में क्लार्क के तौर पर काम करते थे। जिसके लिए उन्हें 165 रुपए पगार भी मिलती थी। पर अपनी नौकरी छोडकर उन्होंने कुछ और करने की सोची और बॉलीवुड में अपना नाम कमाया।
राजकुमार
अपने दमदार डायलोग और बोल्ड आवाज के लिए प्रसिद्ध राजकुमार एक्टिंग के पहले सब-इंस्पेक्टर के तौर पर काम करते थे। पर फिल्मों में अपना नसीब आजमाने के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ दी। हालांकि राजकुमार का यह निर्णय सफल भी हुआ और फिल्मों से उन्हें अपार ख्याति मिली।
रजनीकांत
साउथ के दिग्गज सुपरस्टार रजनीकांत ने फिल्मों में आने से पहले बैंगलोर ट्रांसपोर्ट सर्विस के लिए बस कंडक्टर के रूप में भी काम किया लेकिन फिर उनकी किस्मत बदल गई और आज वह अपने अभिनय के लिए पूरी दुनिया में मशहूर हैं।
अमरीश पूरी
हिंदी फिल्म के मशहूर खलनायक अमरीश पुरी ने अपने करियर में 400 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। हालांकि बहुत कम लोगों को पता होगा कि अभिनय की दुनिया में आने से पहले वह एक बीमा निगम में क्लर्क के पद पर कार्यरत थे, लेकिन उन्होंने यह नौकरी छोड़ दी और बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाई। आज अमरीश पुरी हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन आज भी उनकी दमदार एक्टिंग लोगों के दिलों में जिंदा है।
इन सभी के अलावा अन्य भी कई अभिनेता है, जिन्होंने सरकारी नौकरी को छोड़कर बॉलीवुड में अपना हाथ आजमाया और उसमें सफलता हासिल की। बॉलीवुड फिल्मों में अपने अभिनय से सभी के चेहरे पर मुस्कान लाने वाले अभिनेता कादर खान अभिनय में आने से पहले मुंबई में सिविल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर भी थे। लोकप्रिय टीवी शो सीआईडी ​​में एसीपी प्रद्युम्न की भूमिका निभाने वाले अभिनेता शिवाजी साटम ने अभिनय की दुनिया में आने से पहले एक बैंक में कैशियर के रूप में भी काम किया था लेकिन उन्हें इस सरकारी नौकरी से ज्यादा अभिनय में दिलचस्पी थी। हालांकि उन्होंने मनोरंजन की दुनिया में अपना नाम बनाया। आज शिवाजी इंडस्ट्री के जाने माने स्टार बन चुके हैं।
बॉलीवुड अभिनेता बलराज साहनी अभिनय में आने से पहले कॉलेज में प्रोफेसर के रूप में भी पढ़ाते थे। आपको बता दें कि बलराज बंगाल के शांतिनिकेतन में विश्व-भारती विश्वविद्यालय में पढ़ाते थे। अमोल पालेकर ने फिल्मों में आने से पहले बैंक ऑफ इंडिया में क्लर्क के तौर पर भी काम किया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें