फेसबुक पर हुये प्यार के चलते मोरोक्को से भारत आई युवती, पर शादी के लिए युवक ने रखी यह शर्त

कहते है की प्यार ओ किसी सीमा का बंधन नहीं लगता। प्रेम कभी भी धर्म, देश या जात-पात नई देखता। कुछ इसी बात को साबित किया है भारत के युवक और मोरक्को की रहने वाली युवती के प्यार ने। मोरक्को की रहने वाली मुस्लिम युवती ग्वालियर के एक युवक को दिल दे बैठी थी। हालांकि युवक ने अपना धर्म बदलने से साफ मना कर दिया था। दोनों के प्रेम संबंध की जांकारी जब उनके परिवार को मिली तो उनके बीच भी घर्षण हुआ, पर युवक ने भी युवती का धर्म परिवर्तन ना बदलने का उसके पिता को वचन दिया था। वहीं दूसरी और युवती ने भी अपने प्यार के खातिर अपना देश छोड़ दिया था। फिलहाल दोनों ने कोर्ट में जाकर शादी भी कर ली है।
मोरक्कों में रहने वाली 24 वर्षीय फादवा लैमाली एक निजी कॉलेज में पढ़ती थी। सोशल मीडिया पर तकरीबन एक साल पहले वह 26 वर्षीय अविनाश दोहरे को मिली। धीरे-धीरे दोनों की यह दोस्ती प्यार में बदल गई। हालांकि जब बात शादी तक पहुंची तो दोनों असमंजस में पड़ गए। हालांकि इसके बाद भी दोनों ने अपने माता-पिता से अपने प्यार के बारे में बात की थी। पर फादवा का परिवार इस रिश्ते से नाराज था। पर अविनाश ने जब उन्हें विश्वास दिलाया कि वह कभी भी फादवा से उनका धर्म परिवर्तन करने का दबाव नहीं डालेगा। जिस पर युवती का परिवार वाले मान गए थे।
एक हफ्ते पहले फादवा ने मोरक्को में अपनी शादी के लिए एनओसी के लिए आवेदन किया था। कानूनी दस्तावेजों के प्रसंस्करण को पूरा करने के बाद, मोरक्को से अनुमति प्राप्त की गई थी। इसके बाद उन्होंने ग्वालियर के एसडीएम कोर्ट में मैरिज सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई किया। बुधवार को प्रेमी जोड़ा एडीएम कोर्ट पहुंचा जहां उन्होंने एडीएम एचबी शर्मा की मौजूदगी में शादी कर ली। कुछ दिनों बाद दोनों हिंदू रीति रिवाज से शादी भी कर लेंगे। और कोविड के बाद उनका रिसेप्शन भी होगा. महत्वपूर्ण रूप से, मोरक्को उत्तरी अफ्रीका में एक राजशाही देश है। मोरक्को एक मुस्लिम देश है जिसकी भाषा अरबी है। रबात शहर मोरक्को की राजधानी है। मोरक्को में 99 प्रतिशत आबादी मुस्लिम है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें