दुनिया का वो देश जहाँ गटर के पानी से बन रही हैं बियर, जमकर मज़े ले रहे हैं लोग

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)

सिंगापुर में एक शराब की भठ्ठी में एक विशेष तरह की बीयर बनाई और बेची जा रही है, पानी की समस्या को दूर करने के लिए किये जा रहे है तरह तरह के प्रयोग

आजकल दुनिया भर में पीने के पानी की भारी कमी देखी जा रही है। इस संकट से निपटने के लिए विदेशों में मानव मूत्र से बीयर बनाई जा रही है। आपने जानवरों के मॉल से महंगी कॉफ़ी बनाने के बारे में सुना ही होगा पर अब मानव मूत्र से बियर बनाने की कोशिश की जा रही है। इसके अलावा अब गटर के पानी से भी बियर बनाई गयी है जिसे लोगों द्वारा बहुत पसंद किया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार सिंगापुर में एक शराब की भठ्ठी में एक विशेष तरह की  बीयर बनाई और बेची जा रही है और लोग इसे बड़े मजे से पी रहे हैं। इस बियर का नाम न्यूब्रू है। पत्रकार मोनिका मिलर की रिपोर्ट है कि बीयर कई स्तरों के निस्पंदन से गुजरती है और पीने के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है। किसी भी बियर में 95% पानी होता है। इसी तरह नेब्रू भी एक खास तरह के पानी से बनता है। जर्मन जौ और नॉर्वेजियन यीस्ट के अलावा पानी का इस्तेमाल किया जाता है। सीवर से अपशिष्ट जल को पुनर्चक्रित और छानकर नियोवेटर तैयार किया जाता है। यह पानी सिंगापुर में करीब 20 साल से है। इसका उपयोग सिंगापुर की जल आपूर्ति में भी किया जाता है। सिंगापुर वाटर एजेंसी ने इस ड्रिंक को लॉन्च किया है जो वहां की दुकानों और बार में भी उपलब्ध है।
रिपोर्ट के मुताबिक, सिंगापुर में सरकार पानी की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए नए-नए तरीकों पर काम कर रही है। पीने के पानी की कमी के कारण ऐसे उपाय किए गए थे। वर्षा जल संचयन और मलेशिया से आयातित पानी भी सिंगापुर की 40 प्रतिशत जरूरतों को पूरा करता है। शेष आवश्यकता के लिए पानी या विलवणीकृत समुद्री जल या समुद्री जल से बचा हुआ खारा पानी का उपयोग किया जाता है। सिंगापुर में पानी की मांग 2060 तक लगभग दोगुनी होने की उम्मीद है। देश में पानी की कमी की समस्या को दूर करने के लिए ये कदम उठाए गए हैं। भारत और चीन सहित अमेरिका के कुछ हिस्सों में इसी तरह की परियोजनाओं पर काम किया जा रहा है।

(इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी loktej.com की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें