सूरत : रिंग रोड पर पुरानी जेल की ज़मीन पर बनने वाली आईकॉनिक इमारत को डिजाइन कौन करेगा, जानते हैं? जिसने बुर्ज खलीफा को आकार दिया!

सूरत महानगरपालिका मुख्यालय

मनपा नए प्रशासनिक भवन के निर्माण के लिए दुबई की बुर्ज खलीफा सहित दुनिया की 10 सबसे प्रसिद्ध इमारतें बनाने वाले एक परामर्श एजेंसी को नियुक्त करेगी

मुगलसरा की संकरी सड़क पर चल रही सूरत नगर निगम के प्रधान कार्यालय के लिए नए भवन के निर्माण की परियोजना पिछले आठ वर्षों से चल रही है। अब इसके लिए रिंग रोड उप-जेल को नए भवन के लिए निर्धारित किया गया है। साथ ही, जैसे-जैसे परियोजना आगे बढ़ेगी, मनपा नए प्रशासनिक भवन के निर्माण के लिए दुबई की बुर्ज खलीफा सहित दुनिया की 10 सबसे प्रसिद्ध इमारतें बनाने वाले एक परामर्श एजेंसी को नियुक्त करेगी। यदि परियोजना को मनपा कमीशनर बंछनिधि पाणि द्वारा प्राथमिकता दी गई है, तो परियोजना निविदा प्रक्रिया तक पहुंच गई है। इस प्रशासनिक भवन को इस तरह बनाने की योजना है कि इसे देश की प्रतिष्ठित इमारतों में गिना जा सके।
आपको बता दें कि इस इमारत की ऊंचाई करीब 109 मीटर है। इसलिए नियमानुसार 70 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले भवनों के लिए राज्य सरकार द्वारा गठित टोल भवन स्वीकृति समिति की स्वीकृति का इंतजार है। इस भवन की कंसल्टेंसी बुर्ज खलीफा सहित दुनिया की शीर्ष दस इमारतों के लिए काम करने वाली सीबीएम और लैरा नाम की एजेंसियों को सौंपी जाएगी। बांछिनिधि पाणि ने कहा कि यदि इस समिति की अगली बैठक में स्वीकृति मिलती है तो सूरत मनपा के निविदाकर्ता तत्काल निविदा जारी करने को तैयार हैं। रिंग रोड पर स्थित पुरानी उप-जेल भूमि पर लागू होने वाली परियोजना में राज्य और केंद्र सरकार के कार्यालय भी शामिल हैं। यहां दो टावर बिल्डिंग प्रोजेक्ट के डिजाइन को टोल बिल्डिंग पॉलिसी से फायदा हो सकता है। यहाँ 3.50 के एफएसआई को बढ़ाकर 5.4 एफएसआई किया जाने की संभावना को देखते हुए कहा जा सकता है कि इस परियोजना का निर्माण 14.10 लाख वर्ग फुट से बढ़ाकर 23.50 लाख वर्ग फुट किया जाएगा।
बता दें अहमदाबाद स्थित आईएनआई डिजाइन स्टूडियो कंपनी गुजरात में एक प्रतिष्ठित इमारत के रूप में बनाए जाने वाले नए मनपा प्रशासनिक भवन के लिए डिजाइन के साथ-साथ इसकी वास्तुकला तैयार कर रही है। इस पुरे योजना का अनुमानित बजट 900 करोड़ रुपये है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें