सूरत : अच्छी साड़ी दिखाकर हलकी गुणवत्ता का माल भेजने का कारोबर अब भी चल रहा, एमपी के व्यापारी की शिकायत पर कार्रवाई

प्रतिकात्मक तस्वीर

सूरत के कपड़ा बाजार में इन दिनों कुछ चीटर व्यापारियों ने पूरे बाजार को बदनाम कर रखा है।

सूरत के कपड़ा बाजार में इन दिनों कुछ चीटर व्यापारियों ने पूरे बाजार को बदनाम कर रखा है। अन्य राज्यों के व्यापारियों को अच्छा माल दिखाने के बाद ट्रांसपोर्ट में भेजते समय हल्की गुणवत्ता का माल दे दिया जाता है। इसी तरह की चीटिंग की शिकायत बने मध्यप्रदेश के एक व्यापारी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी जिसके बाद सूरत टैक्सटाइल मार्केट के व्यापारी अरिहंत जैन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
मध्यप्रदेश का दंपत्ति बना ठगी का शिकार
मिली जानकारी के अनुसार मध्य-प्रदेश के खरगोन में रहने वाले शिवराम महेश्वरी वहां चिकित्सालय में चपरासी की नौकरी करते हैं। उनकी पत्नी साड़ी का व्यापार करती है। 17 फरवरी को शिवराम अपनी पत्नी के साथ सूरत में साड़ी खरीदने आए थे। रिंग रोड पर सूरत टैक्सटाइल मार्केट में उन्होंने एक व्यापारी से संपर्क किया। व्यापारी ने उन्हें अपनी मीठी मीठी बातों में फंसाकर डिस्काउंट की बातें करके अच्छी क्वालिटी की साड़ियां दिखाई। इस दंपत्ति ने 318 साड़ियां पसंद की और 50,000 का बिल बनने पर 40,000 रूपए होने की बात कही। तब अरिहंत जैन ने कहा कि 40,000 अभी दे दो बाकी का पेमेंट बाद में दे देना। इसके बाद कुछ दिनों तक पार्सल नहीं पहुंचा तब मध्य प्रदेश के व्यापारी ने शिकायत की। इसके पश्चात देरी से जब पार्सल पहुंचा तो उसमें भी 49 ही साड़ियां थी और यह तमाम साड़ियां डिफेक्टिव थी। 50 रूपए की हल्की गुणवत्ता वाली साड़ियां भेज कर ठगी की गई थी। 
एक बार पार्सल में खराब माल की शिकायत पर दोबारा माल भेजा
जब मध्य प्रदेश के व्यापारी ने शिकायत की तो अरिहंत जैन ने पार्सल बदलने का भरोसा दिलाया और दूसरी बार भी पार्सल में खराब माल निकला। शिवराम ने जब इसकी शिकायत की तो अरिहंत ने उन्हें डराने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि इस प्रकार कम गुणपत्ता वाली साड़ियों का व्यापार धडल्ले से चल रहा है और 25000 से लेकर 70000 रूपए तक के मामले में ज्यादातर प्रवासी व्यापारी शिकायत नहीं दर्ज कराते। पुलिस ने मध्य प्रदेश के शिवराम की शिकायत के आधार पर अरिहंत जैन नाम के व्यापारी के खिलाफ कार्रवाई की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें