सूरत : वलसाड में दोस्ती को कलंकित करने वाली घटना, रात के खाने पर बुलाया और मार डाला

पाथरी गांव के पास मिली थी लाश

बुटलेगर मितेश को मृतक विकास पर पुलिस को सूचना देकर शराब और वाहन पकड़वाने का शक था

 वलसाड जिले के पाथरी गांव के समीप वांकी नदी के पानी में कुछ दिन पूर्व मृत मिले शव के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने चणवई के  युवक विकास पटेल की हत्या के आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।  पुलिस के हाथ लगे हत्यारे से जो हकीकत सामने आई उसे जानकर खुद पुलिस भी हैरान रह गई। क्योंकि पता चला कि मृतक के एक समय के दोस्त ने दोस्त को अपने साथ डिनर पर ले जाकर मार डाला था।
गत 4 जून को वलसाड के पास पाथरी गांव के पास वांकी नदी के पानी में एक व्यक्ति की हत्या की गई हालात में मृतदेह मिला था। लाश के हाथ-पैर बंधे हुए थे। लाश बोरे में भरा हुआ था। शव को देखकर ऐसे प्रतीत हो रहा था कि मृतक की किसी ने बेरहमी से हत्या की है। मृतक की पहचान वलसाड के चणवई गांव के विकास पटेल के रूप में हुई है। मृतक विकास पटेल कुछ दिन पूर्व ही मछली पकड़ने के बाद जहाज से घर लौटा था। अचानक ही उसकी हत्या किये जाने से लोग चौंक गये।
पुलिस ने मृतक की शिनाख्त करने के बाद सघनता पूर्वक जांच करते हुए पुलिस ने एक समय के मित्र एवं बुटलेगर मितेश पटेल उर्फ ढोकलो नाम के शख्स तक पहुंची। वलसाड के निकट अतुल निवासी मितेश उर्फ ढोकलो शराब के धंधे में लिप्त था। मृतक विकास पहले बूटलेगर मितेश के साथ काम करता था और शराब का खेप मार रहा था। हालांकि, उस समय पुलिस ने मितेश उर्फ ढोकलो की गाड़ी को पकड़ लिया था। शराब तस्कर मितेश को शक था कि मृतक विकास पुलिस को सूचना देकर शराब और वाहन जब्त कराया है। बस  इसी निजी दुश्मनी में मितेश पटेल उर्फ ढोकलो ने विकास की हत्या कर दी।
मितेश कई दिनों से विकास की हत्या की साजिश रच रहा था। जब आरोपी को पता चला कि मृतक विकास कुछ दिन पहले मछली पकड़कर जहाज से घर लौटा है, तो उसने मृतक विकास को दोस्ती के बहाने भोजन करने के लिए आमंत्रित किया। दोनों वलसाड के पास हाईवे पर एक होटल के पास गए थे। जहां आरोपी मितेश ने मृतक को खाना लेने भेजा।
बाद में दोनों दोस्त वांकी नदी के पास एक मैदान में खाना खाने बैठ गए। दोनों एक साथ खाना खाकर घर आने के रास्ते अलग हो रहे थे। इसी दौरान मौका देखकर आरोपी मितेश ने अपने दोस्त को बड़ा पत्थर मारकर हत्या कर दी थी। बाद में वह शव को ठिकाने लगाने के लिए घर से प्लास्टिक की रस्सी और प्लास्टिक का थैला लेकर आया और शरीर के अंगों यानी हाथ-पैर को रस्सी से बांधकर बैग भरकर नदी में फेंक दिया। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी मितेश के आपराधिक इतिहास की सूची भी लंबी है। आरोपी पर बुटलेगिंग के सात मामले दर्ज हैं। अब हत्या का अपराध दर्ज कर लिया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें