सूरत : पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को उपहार स्वरूप मिली 354 वस्तुओं की प्रदर्शनी

पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को मिले उपहारों को नीलामी के लिए रखा गया है

नीलामी से होने वाली आय बालिका शिक्षा को दी जाएगी

मुख्यमंत्री के कार्यकाल में प्राप्त तलवार, पगड़ी, चांदी के रथ सहित वस्तुओं की बिक्री
शहर के सिटी लाइट स्थित साइंस सेंटर में पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को उनके कार्यकाल में प्राप्त वस्तुओं की प्रदर्शनी के साथ नीलामी का आयोजन किया गया है। दो दिवसीय प्रदर्शनी सह नीलामी में तलवार, पगड़ी, चांदी के घोड़ों वाला रथ समेत 354 सामान रखा गया है। इन सभी वस्तुओं की बिक्री से होने वाली आय बालिका शिक्षा (कन्या केलवणी) को देने का निर्णय पूर्व मुख्यमंत्री विजयभाई रूपाणी ने लिया है।
13 और 14 सितंबर को साइंस सेन्टर में प्रदर्शनी और नीलामी आयोजित की जा रही हैं। साइंस सेन्टर में प्रदर्शनी व नीलामी सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक की जाएगी। जिससे शहर के लोग इन भेंटों को लेने और देखने के लिए उमड़ रहे हैं। इस प्रदर्शनी में छोटे-बड़े 354 उपहार हैं। फोटो फ्रेम, सोना चांदी, बास, चीनी मिट्टी की चीज़ें, जो सार्वजनिक समारोहों के दौरान मुख्यमंत्री को उपहार के रूप में दी जाती हैं। धातु के कांच सहित उन सभी कीमती सामानों को सह-बिक्री के रूप में प्रदर्शित किया जा रहा है।
इन प्रदर्शनी एवं नीलामी से मिलने वाली राशि का उपयोग बालिका शिक्षा कोष में किया जाएगा। इस नीलामी से पांच घोड़ों वाला चांदी का रथ, एक कलश, एक तलवार सहित 354 वस्तुएं है, जिसकी नीलामी कर मिलने वाली राशि  मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार बालिका शिक्षा के लिए दी जाएगी। चरखा, मूर्तियाँ, अशोक स्तंभ का भी बिक्री में समावेश हैं। खास बात यह है कि यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सूट की भी नीलामी हुई थी। मोदी ने साइंस सेंटर में जो सूट पहना था वह पूरे देश में चर्चा का विषय था। सूट को सूरत के हीरा उद्योग से जुड़े एक व्यापारी ने करोड़ों रुपये में खरीदा था। मोदी जब मुख्यमंत्री थे तब भी उन्हें मिलने वाले उपहारों की नीलामी इस तरह की जाती थी। इस पहल को पूर्व मुख्यमंत्री विजयभाई रुपाणी ने भी कायम रखा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें