उत्तर भारत में पहली बार हुआ दोनों फेफड़ों का सफल ट्रांसप्लांटेशन

(Photo Credit : Sandesh.com)

अहमदाबाद से ब्रेनडेड युवा के फेफड़ों को ग्रीन कॉरिडोर के जरिए दिल्ली पहुंचाया गया

उत्तर भारत में पहली बार किसी अस्पताल ने एक विशेष मशीन की मदद से किसी व्यक्ति के दोनों फेफड़ों का सफलतापूर्वक प्रतिरोपण किया है। मरीज के कोरना संक्रमित होने के बाद भी यह डबल लंग ट्रांसप्लांट सफल रहा है।
जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले 55 वर्षीय ज्ञानचंद क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी) से पीड़ित थे। कोविड-19 से उनके फेफड़ों को भारी नुकसान पहुंचा है। वह बहुत अस्थिर और गंभीर स्थिति में थे। वे उच्च प्रवाह ऑक्सीजन पर थे। उनकी जान बचाने के लिए फेफड़े का प्रत्यारोपण ही एकमात्र विकल्प था। दिल्ली के साकेत में स्थित मैक्स अस्पताल में उसकी जांच की गई और डॉ राहुल चंदोला के नेतृत्व में एक हृदय-फेफड़े प्रत्यारोपण टीम ने उनका फेफड़े का प्रत्यारोपण किया।
दरअसल 22 दिसंबर 2021 को अहमदाबाद में ब्रेन डेड डोनर के ऑर्गन रजिस्ट्री की जानकारी मिली। रोगी 44 वर्ष का था और ब्रेन हेमरेज से उसकी मृत्यु हो गई थी। इसके बाद टीम फेफड़ों को डिटॉक्सीफाई करने अहमदाबाद गई। अस्पताल के अधिकारियों द्वारा मरीज की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए उचित व्यवस्था की गई और हर कदम सही समय पर उठाया गया। अहमदाबाद में सिविल अस्पताल और हवाई अड्डे और फिर आईजीआई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बीच एक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया था। 3 घंटे में 950 किमी की दूरी तय कर फेफड़ों को बिना किसी रुकावट के लाया गया। डॉक्टरों ने कहा कि मरीज फेफड़ों की बीमारी के साथ उनके पास आया था। जहां मरीज को पहले से ही फेफड़ों की कई दिक्कतें थीं और मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। वह करीब एक साल से ऑक्सीजन पर था और उसकी सेहत में सुधार नहीं हुआ और कोई इलाज नहीं था। फिर इस प्रत्यारोपण के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लिया गया।
इस बारे में साकेत के मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के हार्ट एंड लंग ट्रांसप्लांट स्पेशलिस्ट, एडल्ट सीटीवीएस और एसोसिएट डायरेक्टर डॉ राहुल चंदोला ने कहा कि यह एक बहुत ही जटिल सर्जरी थी और हमने उत्तर भारत में पहली बार एक्सटेंडेड ईसीएमओ लाइफ सपोर्ट में यह डबल लंग ट्रांसप्लांट किया। फिलहाल मरीज पूरी तरह से ठीक हो गया है और दोनों फेफड़े पूरी तरह से काम कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें