RBI द्वारा बैंक लॉकर को लेकर बदले गए नियम, अधिक समय तक नहीं खुला लॉकर तो होगा कुछ ऐसा

प्रतिकात्मक तस्वीर(Photo Credit : indiamart.com)

सात सालों तक बैंक लॉकर नहीं खोलने पर बैंक द्वारा तोड़ दिया जाएगा

आम तौर पर लोग अपने आभूषण और कीमती सामान बैंक के लॉकर में ले जाकर रख देते है। क्योंकि घरों की तुलना में बैंक लॉकर में यह चीजें काफी सुरक्षित रहती है। एक बार लॉकर में रखने के बाद कई बार तो सालों तक लोग उस चीज को नहीं देखते है। हालांकि आरबीआई द्वारा बैंक लॉकर को लेकर एक नया नियम बनाया गया है, जिससे की लंबे समय तक अपने बैंक लॉकर की सुध नहीं लेने वालों को नुकसान हो सकता है। RBI के नए नियम के अनुसार, यदि एक लंबे अंतराल तक कोई लॉकर नहीं खोला गया हो तो बैंक द्वारा उसे तोड़ा जा सकेगा। इस बारे में RBI द्वारा एक नोटिफिकेशन भी जारी की गई है। 
बैंकिंग और टेक्नोलोजी के क्षेत्र में शिकायतों की प्रवृत्ति और भारतीय बैंक संघ से प्राप्त हुई प्रतिक्रिया के बाद आरबीआई ने यह नए दिशानिर्देश जारी किए है। आरबीआई ने अपने बयान में कहा की बैंक लॉकर को तोड़ने और लॉकर की सामाग्री को अपने नॉमिनी को ट्रांसफर करने की प्रक्रिया के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होगा। कोई भी लॉकर यदि सात साल से अधिक समय के लिए निष्क्रिय रहता है तो भले ही लॉकर के किराया नियमित रूप से आता रहे तो भी लॉकर को तोड़ा जा सकेगा। 
हालांकि लॉकर को तोड़ने के पहले बैंक द्वारा एक पत्र के माध्यम से नोटिस भेजी जाएगी और पंजीकृत ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर पर एक अलर्ट भी भेजा जाएगा। हालांकि यदि पत्र रिटर्न हो जाता है तो बैंक द्वारा वर्तमानपत्र में सार्वजनिक नोटिस जारी करने के बाद उचित समय अवधि तक उसका इंतजार कर लॉकर को तोड़ने की कार्यवाही करेगा। यदि लॉकर का मालिक नहीं आता है बैंक द्वारा एक बैंक अधिकारी और दो स्वतंत्र गवाहों की उपस्थिती में लॉकर को खोलने के बाद उसके अंदर की सामग्री को एक सीलबंद लिफाफे में रखा जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें