अब अस्पतालों को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी

(Photo : IANS)

कोरोना के बढ़ते केसों को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय मंत्रालय द्वारा किया गया निर्णय

नई दिल्ली, 16 अप्रैल (आईएएनएस)| कोरोना के मामलों में बेहताशा बढ़ोत्तरी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने केंद्रीय मंत्रालयों और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों (पीएसयू) को अस्पतालों को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल और वार्ड बनाने की सलाह दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी केंद्रीय मंत्रालयों को अपने नियंत्रण के तहत आने वाले अस्पतालों को निर्देश जारी करने या कोविड की देखभाल के लिए अस्पतालों के अंदर समर्पित अस्पताल वार्ड या अलग ब्लॉक स्थापित करने की सलाह दी है। इसके बाद इन अस्पतालों और ब्लॉकों की जानकारी जनता को भी देने के निर्देश दिए गए हैं।
मंत्रालय ने कहा कि इसके अतिरिक्त, इन डेडिकेटेड अस्पताल वाडरें या ब्लॉकों को ऑक्सीजन बेड, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर और विशेष क्रिटिकल केयर यूनिट (जहां भी उपलब्ध हो), लैब सेवाएं, इमेजिंग सेवाएं, रसोई, कपड़े धोने सहित सहायक सेवाएं प्रदान करने के लिए तैयार किया जाना है। साथ ही समर्पित डेडिकेटेड हैल्थकेयर फोर्स भी हो।
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव को लिखे गए पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने दोहराया कि देश भर के कोविड मामलों में अचानक वृद्धि ऐसे सभी केंद्रीय मंत्रालयों, विभागों और उनके सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अस्पतालों से पिछले वर्ष की तरह सहायक कार्रवाई के लिए है।
जनता के लिए इन अस्पताल वाडरें और ब्लॉकों में आवश्यक उपचार के लिए केंद्रीय मंत्रालयों को ये भी सलाह दी गई है कि ऐसे डेडिकेटेड अस्पताल वाडरें और ब्लॉकों का विवरण आम लोगों को दिया जाए, जो राज्यों के संबंधित स्वास्थ्य विभागों के साथ विधिवत समन्वय करते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें