जानें डॉ. रेड्डी ने Sputnik V के एक डोज़ की कितनी कीमत तय की, भारत में कब से उपलब्ध होगी

(Photo : IANS)

कोरोना के खिलाफ युद्ध में भारत को मजबूत होना है। केंद्र सरकार ने कहा है कि कोरोना का रूसी टीका स्पुतनिक वी अगले सप्ताह से भारतीय बाजार में उपलब्ध हो सकता है। केंद्र ने कहा कि राज्यों में टीकों की कमी के कारण टीकाकरण अभियान को धक्का लगा है, लेकिन उसे आगे बढ़ाया जा रहा है। महाराष्ट्र सहित कई राज्य टीकों की आपूर्ति के लिए वैश्विक निविदा जारी कर रहे हैं।
नीति आयोग के सदस्य डॉ. पॉल ने कहा, "मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि स्पुतनिक वी टीका अगले सप्ताह उपलब्ध हो सकता है।" हमें उम्मीद है कि रूस से आपूर्ति की जाने वाली सीमित वैक्सीन अगले सप्ताह बिक्री के लिये उपलब्ध हो जाएगी। इस वैक्सीन की आपूर्ति आगे भी जारी रहेगी और जुलाई में उत्पादन शुरू हो जाएगा।
सूरत में 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले युवाओं को कोरोना टीका लगाया गया।
बता दें कि हैदराबाद की डॉ. रेड्डी लैबोरेटरी इस रूसी वैक्सीन का आयात करेगी। 5% जीएसटी के साथ स्पुतनिक वी की एक खुराक की कीमत 995.40 रुपये होगी। फार्मा कंपनी ने यह भी कहा है कि हैदराबाद में वैक्सीन लॉन्च की जाएगी। कंपनी ने कहा कि आयातित टीके की एक खुराक की कीमत 948 रुपये है, हालांकि 5 प्रतिशत जीएसटी जोड़ने पर प्रति खुराक 995.40 रुपये खर्च होंगे। लेकिन जब इसकी स्थानीय आपूर्ति शुरू होती है, तो कीमत कम हो सकती है। कंपनी फिलहाल इस वैक्सीन के लिए 6 मैन्युफैक्चरिंग पार्टनर्स के साथ काम कर रही है।
डॉ. पॉल ने कहा कि निकट भविष्य में स्पुतनिक वी की डिलीवरी जारी रहेगी और उत्पादन जुलाई में शुरू होगा। स्पुतनिक वी की अनुमानित 15.6 मिलियन खुराक इस दौरान उपलब्ध होगी।
इस बीच, संयुक्त राज्य अमेरिका, नीदरलैंड, इटली, फ्रांस और रूस के वैज्ञानिकों के एक समूह ने वैक्सीन के तीसरे चरण के परिणामों पर चिंता व्यक्त की है। तो रूसी वैज्ञानिकों का कहना है कि उनका डेटा स्पष्ट और पारदर्शी है और सही मानदंडों को पूरा करता है। भारत में इस समय करीब 18 करोड़ कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे अधिक 260 मिलियन टीके लगे हैं। भारत कोरोना टीकाकरण के मामले में तीसरे स्थान पर है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें