केरल : पाइल्स का गुप्त इलाज जानने के लिए तीनों लोगों ने की एक डॉक्टर की हत्या

(Photo Credit : IANS)

अपहरणकर्ताओं ने डॉक्टर को एक साल से अधिक समय तक एक घर में रखा, फिर कर दी बेरहमी से हत्या

केरल के मलप्पुरम में 2019 में एक पारंपरिक मरहम लगाने वाले का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गई थी। केरल पुलिस के मुताबिक, अपहरण के बाद अपहरणकर्ताओं ने डॉक्टर को एक साल से अधिक समय तक एक घर में रखा था। इस दौरान पीडित को बवासीर के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा का गुप्त फार्मूला बताने के लिए प्रताड़ित किया गया। जब चिकित्सक ने उन्हें दवा का गुप्त सूत्र नहीं बताया तब उन लोगों ने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी गई ।
जानकारी के अनुसार पीड़ित कर्नाटक के मैसूर के पास का रहने वाला था और पुलिस ने इस मामले में मलप्पुरम जिले के 42 वर्षीय मुख्य आरोपी शैबिन अशरफ और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। मृतक की पहचान 60 वर्षीय शाबा शेरिफ के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक आरोपी शबीन 60 वर्षीय डॉक्टर से दवा का पारंपरिक रहस्य जानना चाहता था और जब वह ऐसा नहीं कर पाया तो उसने अपने साथियों के साथ मिलकर उसे प्रताड़ित किया। बाद में उन्होंने डॉक्टर के शरीर को काट दिया और नदी में फेंक दिया। अपहरण के करीब 14 महीने बाद अक्टूबर 2020 में डॉक्टर की हत्या कर दी गई थी। मैसूर जिला पुलिस ने पूरे मामले का निपटारा कर दिया था लेकिन मामला 29 अप्रैल को तब सामने आया जब पांच लोगों ने राज्य सचिवालय के सामने खुद को आग लगाने की धमकी दी। खुद को आग लगाने वाले युवकों द्वारा किए गए दावों के अनुसार, शैबीन ने उन्हें धोखा दिया और उसने शैबीन के कहने पर अपराध किया।
सचिवालय के सामने एक युवक ने अपने शरीर पर तेल छिड़कना शुरू कर दिया। उसने  शैबिन से धोखा मिलने की बात कही। उसने शैबिन के इशारे पर हत्या समेत कई अपराध किए हैं और उसके पास सबूत हैं। उनमें से नौशाद नाम के एक युवक ने एक पेनड्राइव भी दिखाया जिसमें हत्या के सबूत होने का दावा किया गया था। इसके बाद पांचों युवकों को तिरुवनंतपुरम के स्थानीय पुलिस थाने ले जाया गया। वहां उसने कबूल किया कि उसने 24 अप्रैल को नीलांबुर में शबीन के घर से चोरी की थी, क्योंकि शबीब ने उसे निर्धारित राशि का भुगतान नहीं किया था। उसने घर से सात लाख रुपये नकद, चार महंगे मोबाइल फोन और तीन लैपटॉप चुरा लिए।
पिछले 10 वर्षों में शैबिन की किस्मत आसमान छू गई है और उन्होंने 300 करोड़ रुपये की संपत्ति अर्जित की है। उन्होंने नीलांबुर में करीब 2 करोड़ रुपये का एक घर खरीदा। उसके पास कई महंगे वाहन भी थे। पुलिस के अनुसार, शैबिन ने दो और लोगों को मारने की भी योजना बनाई और उसके लैपटॉप में कई विस्फोटक विवरण पाए गए। उसने 2 लोगों की हत्या की साजिश का प्रिंट निकाल कर दीवार पर चिपका दिया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें