झारखंड : वैक्सीन लगने के बाद हुआ मानो चमत्कार, सड़क दुर्घटना में बोलने की क्षमता खो बैठे शख्स को मिली उसकी आवाज

प्रतिकात्मक तस्वीर

पांच साल पहले दुर्घटना में आवाज खो बैठे शख्स ने बीते एक साल से बिस्तर पर बिताई जिंदगी

देश में एक बार फिर कोरोना का संकट बढ़ता जा रहा है. संक्रमित मामलों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. ऐसे में सरकार लगातार मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने और वैक्सीन लगवाने पर जोर दे रही है. हालांकि जब से देश में वैक्सीनेशन शुरू हुआ है, कुछ लोग वैक्सीन से साइड इफ़ेक्ट की बात कर रहे है. कुछ लोगों ने तो वैक्सीन लगवाने के बाद खुद में चुम्बकीय शक्ति का अहसास किया. एक बार फिर वैक्सीन के कारण शरीर में आये साइड इफ़ेक्ट का मामला सामने आया है पर इस बार जो मामला आया है उससे वैक्सीन लेने वाला इंसान बहुत खुश है.
जानकारी के अनुसार जीवन की आशा छोड़ बैठे झारखंड के 55 वर्षीय दुलारचंद मुंडा को कोविशील्ड वैक्सीन लगने के बाद एक असा अनुभव हुआ जिसके बाद उनकी जिंदगी बदल गई. एक तरह से कहे तो वैक्सीन लेने के बाद एक चमत्कार सा हुआ। दरअसल 5 साल से जिंदगी से जंग लड़ रहे मूक मुंडा कोविशिल्ड का टीका लगवाने के बाद न सिर्फ बेहतर महसूस करने लगे बल्कि आवाज में भी थोड़ा सुधार हुआ है। उनका मानना है कि उनके शरीर को नया जीवन मिल गया है। ये मामला बोकारो जिले के पेटरवार प्रखंड के उत्सारा पंचायत के सलगडीह गांव का है. हालांकि पंचायत प्रमुख सुमित्रा देवी और पूर्व अध्यक्ष महेंद्र मुंडा ने भी इसे वैक्सीन इफेक्ट बताया है पर मुंडा के लिए ये वरदान साबित हुआ.
बता दें कि गांव सलगडीह निवासी दिवंगत रोहन मुंडा के 55 वर्षीय पुत्र दुलारचंद मुंडा करीब पांच वर्ष पूर्व सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे. इलाज के बाद वह ठीक हो गया, लेकिन उसके शरीर के अंगों ने काम करना बंद कर दिया। इसके साथ ही उनकी आवाज भी गायब हो गई। वह 1 साल से बिस्तर पर पड़ा था। वह ठीक से बोल भी नहीं पा रहा था। परिवार के इकलौते कमाऊ सदस्य की तबीयत खराब होने के कारण परिवार गुजारा करने के लिए संघर्ष कर रहा था।
इस मामले में चिकित्सा प्रभारी डॉ अलबेल केरकेटा ने कहा कि आंगनबाडी केंद्र की एक नर्स ने उन्हें 4 जनवरी को उनके घर पर टीका लगाया था और 5 जनवरी से उनका बेजान शरीर हिलने लगा। हालांकि यह जांच का विषय है। जबकि सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र कुमार ने कहा कि यह हैरान करने वाली घटना है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें