ऐसी नींद लगी कि ये जानवर ढाई हजार किमी दूर पहुंच गया!

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

उत्तरध्रुव पर दिखाई देने वाला वॉलरस आयरलैंड के समंदर किनारे दिखा

आयरलैंड के समंदर किनारे समुदी जीव वोलरस के दिखाई देने के कारण लोगों को काफी अचरज फ़ेल गया है। उत्तर ध्रुव के बर्फीले प्रदेशों में दिखाई देने वाला यह जीव आयरलैंड किस तरह पहुँच गया इसे लेकर लोगों में काफी प्रश्न घूम रहें है। आखिर कार जानकारों ने यह निष्कर्ष निकाला की यह वोलरस किसी हिमशीला पर सो रहा होगा और वह हिमशीला पानी में तैरते हुये वहाँ आ पहुंची होगी। 
जब वह उठा तो वह अपने प्रदेश से काफी दूर पहुँच गया था। आयरलैंड के सबसे नजदीक के दो स्थल है जहां यह जीव देखने मिलता है। पहला ग्रीनलेंड का किनारा और दूसरा स्वालबार्ड का किनारा। हालांकि यह दोनों टापू यहाँ से अनुक्रम ढाई और 3 हजार किलोमीटर दूर है। ऐसे में यह माना जा रहा है की वॉलरस ने अनजाने में ही यह सफर तय कर ली है। 
अब सबसे बड़ी दुविधा यह है की यदि वॉलरस इस पर्यावरण में नहीं रह पाया तो उसे वापिस कैसे भेजा जाएगा। एक हजार किलो के वजन वाले यह जीव उत्तरध्रुव के अलावा और कही नहीं देखने मिलते। इस जीव के बड़े दाँत के कारण इन्हें दूर से ही पहचाना जा सकता है। फिलहाल तो आयरलैंड के निवासी अपने समंदर के किनारे इस जीव को देखने का लुत्फ उठा रहे है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें