ICMR ने वैक्सीन भेजने के लिए ड्रोन ट्रायल को अनुमति दी

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)

अनुमति की छूट एक वर्ष की अवधि के लिए या अगले आदेश तक वैध

नई दिल्ली, 23 अप्रैल (आईएएनएस)| इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (कउटफ) ने आईआईटी कानपुर के सहयोग से ड्रोन का उपयोग करते हुए कोविड 19 वैक्सीन डिलीवरी की व्यवहार्यता अध्ययन करने की अनुमति दी है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मंत्रालय और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने आईआईटी कानपुर के सहयोग से ड्रोन का उपयोग करते हुए कोविड 19 वैक्सीन डिलीवरी की व्यवहार्यता अध्ययन करने के लिए आईसीएमआर ने सशर्त छूट दी है।
मंत्रालय ने कहा, "अनुमति की छूट एक वर्ष की अवधि के लिए या अगले आदेश तक वैध है।" सशर्त ड्रोन उपयोग की छूट देहरादून, हल्द्वानी, हरिद्वार और रुद्रपुर के नगर निगम को जीआईएस आधारित संपत्ति डेटाबेस और इलेक्ट्रॉनिक कर रजिस्ट्रार की तैयारी के लिए एक वर्ष की अवधि या अगले आदेश तक के लिए दी गई है।
(Photo : IANS)
ट्रेन दुर्घटना स्थल के लिए पश्चिम मध्य रेलवे (डब्ल्यूसीआर) कोटा और कटनी को पत्र जारी करने की तारीख से एक वर्ष की अवधि के लिए रेलवे संपत्ति की सुरक्षा और सुरक्षा बनाए रखने के लिए ड्रोन का उपयोग करने की अनुमति भी दी गई थी।
इनके अतिरिक्त, वेदांत लिमिटेड (केयर्न ऑयल एंड गैस) को भी 8 अप्रैल, 2022 तक परिसंपत्ति के निरीक्षण और मानचित्रण के लिए डेटा अधिग्रहण के लिए सशर्त ड्रोन उपयोग की छूट प्राप्त हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें