हिमाचल ने और ज्यादा स्थलों पर पैराग्लाइडिंग, रिवर राफ्टिंग की अनुमति दी

(Photo : IANS)

अब राज्य में आने वाले पर्यटक कुल्लू, कांगड़ा, मंडी, चंबा और शिमला के जिलों में नए स्थलों पर पैराग्लाइडिंग का लुत्फ ले सकते हैं।

शिमला, 24 फरवरी (आईएएनएस)| हिमाचल प्रदेश में एडवेंटर टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने बुधवार को कहा कि उसने कुल्लू, कांगड़ा, मंडी, चंबा, और शिमला में पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग के लिए अतिरिक्त स्थल अधिसूचित किए हैं। पर्यटन और नागरिक उड्डयन निदेशक यूनुस ने कहा कि अब राज्य में आने वाले पर्यटक कुल्लू, कांगड़ा, मंडी, चंबा और शिमला के जिलों में नए स्थलों पर पैराग्लाइडिंग का लुत्फ ले सकते हैं।

उन्होंने कहा कि 'नई राहें नई मंजिलें' योजना के तहत जिन क्षेत्रों को ज्यादा एक्सप्लोर नहीं किया गया है, वहां एडवेंचर स्पोर्ट्स गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए संभावनाओं को भी तलाशा जा रहा है।

नए अधिसूचित पैराग्लाइडिंग स्थलों में कुल्लू जिले में पंधरा से गदसा और खड़गान से नांगाबाग तक, कांगड़ा जिले में तांग नरवाना से खिरकू तक और चंबा जिले में दरौता से लाहरा (खजियार), लाहरा से डेरोल और रैना से नैनीखड़ जरेई तक है। मंडी जिले में, पैराग्लाइडिंग साइटों को अधिसूचित किया जाता है, जिसमें पराशर और स्पनिधर शामिल हैं, जबकि शिमला जिले में टिक्कर और जुंगा से चौरी तक हैं।

यूनुस ने कहा कि ब्यास नदी पर वाटर स्पोर्ट्स की नई साइट को बढ़ावा देने के लिए नादौन से देहरा पुल तक अधिसूचित किया गया है। उन्होंने कहा कि पायलटों और पर्यटकों को पैराग्लाइडिंग की सुरक्षा के लिए मनाली में अटल बिहारी वाजपेयी इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग और अलाइड स्पोर्ट्स (एबीवीआईएमएएस) के सहयोग से पर्यटन विभाग ने पायलटों को प्रशिक्षण प्रदान करने की पहल की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें