गुजरात : केवडिया स्थित ‘स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी’देश का गौरव, अब तक 75 लाख पर्यटक पहुँचे : प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी ने गुजरात सरकार द्वारा सोमनाथ में 30.55 करोड़ रुपए के ख़र्च से निर्मित आधुनिक अतिथि गृह सर्किट हाउस का ई-लोकार्पण किया

सोमनाथ में सर्किट हाउस से समुद्र की लहर तथा सोमनाथ महादेव के शिखर दर्शन के साथ पर्यटकों को भारत की चेतना की भी अनुभूति होगी

सोमनाथ सहित देश भर की सांस्कृतिक धरोहरें राष्ट्रीय एकता के साथ ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ का प्रतिनिधित्व कर रही हैं
इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल तथा नवसारी के सांसद सी. आर. पाटिल वर्चुअली उपस्थित रहे। सोमनाथ में नवनिर्मित सर्किट हाउस में सड़क तथा भवन एवं पर्यटन-यात्राधाम विकास मंत्री श्री पूर्णेशभाई मोदी तथा राज्य मंत्री अरविंदभाई रैयाणी की उपस्थिति में कोविड प्रोटोकॉल के साथ लोकार्पण समारोह आयोजित हुआ।
प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी ने सोमनाथ में अतिथि गृह का वर्चुअल लोकार्पण करते हुए गौरव के साथ कहा कि सोमनाथ सहित देश की सांस्कृतिक विरासतें-धरोहरें राष्ट्रीय एकता के साथ ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ का भी प्रतिनिधित्व करती हैं। उन्होंने कहा कि ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के माध्यम से हम अतीत से जो सीखना चाहते हैं, उसके लिए सोमनाथ जैसे आस्था स्थल व सांस्कृतिक स्थल मुख्य केन्द्र हैं। ‘स्वदेश दर्शन’ योजना के अंतर्गत देश में 15 थीम आधारित टूरिज़्म सर्किट्स विकसित की जा रही हैं। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर स्पष्ट कहा कि दुनिया के देशों में जितने पर्यटन स्थल किसी एक देश में होते हैं, उतने पर्यटन स्थल तो हमारे देश के एक-एक राज्य में हैं। प्रधानमंत्री ने हर राज्य में स्थित प्राचीन स्थलों का उल्लेख करते हुए कहा कि देश की समृद्धि तथा देश के नवयुवाओं को अवसर देने में पर्यटन स्थलों को उजागर करने से जुड़े विकास कार्य एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस संदर्भ में प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले सात वर्षों से देश ने पर्यटन स्थलों की अपार संभावनाओं को साकार करने के अविरत प्रयास किए हैं।
प्रधानमंत्री ने स्वयं के सोमनाथ ट्रस्ट से जुड़े होने के संदर्भ में कहा कि सोमनाथ ट्रस्ट द्वारा सोमनाथ में पर्यटकों-श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए अविरत प्रयास तथा कार्य किए जा रहे हैं। सोमनाथ में पिछले कुछ वर्षों में एक के बाद एक विकास कार्य हो रहे हैं, जो सोमनाथ दादा की विशेष कृपा है। कुछ समय पहले हुए समुद्र पथ, एग्ज़ीबिशन गैलरी आदि परियोजनों के लोकार्पण तथा माँ पार्वती मंदिर के शिलान्यास सहित विभिन्न कार्यों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सोमनाथ क्षेत्र में उपलब्ध हो रही इन सुविधाओं के कारण दीव, गीर से लेकर बेट द्वारका तक की टूरिज़्म सर्किट का केन्द्र सोमनाथ बनेगा। सोमनाथ में गुजरात सरकार द्वारा सर्किट हाउस में ठहरने वाले पर्यटकों को समुद्र की लहरों और सोमनाथ महादेव मंदिर के शिखर; दोनों के दर्शन होंगे और उनमें नई चेतना जागेगी। उन्होंने कहा कि सोमनाथ मंदिर को तबाह किया जाना तथा जिन परिस्थितियों में सरदार साहब द्वारा सोमनाथ का जीर्णोद्धार किया गया; ये दोनों बातें एक बड़ा संदेश हैं। प्रधानमंत्री ने पर्यटन विकास को ‘लोकल फ़ॉर वोकल’ के साथ जोड़ कर नए दृष्टिकोण की रूपरेखा भी दी। 
गृह सर्किट हाउस का प्रधानमंत्री ने वर्चुअली ई-लोकार्पण किया
प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी ने गुजरात में द्वारका, बेट द्वारका, सोमनाथ, अंबाजी, पावागढ, सापुतारा, स्टैच्यू ऑफ़ यनिट, गिरनार, सफ़ेद रण सहित स्थलों पर हुए विकास कार्यों का भी उल्लेख किया। उन्होंने गौरवपूर्वक कहा कि स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी को देखने के लिए अब तक 75 लाख यात्री-पर्यटक आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश की हेरिटेज साइटें हमारी सांस्कृतिक विरासतों के विकास का बड़ा उदाहरण हैं। देश आज पर्यटन को समग्रत: होलिस्टिक वे में देख रहा है। ‘स्वच्छ भारत अभियान’ से पवित्र स्थलों की तसवीर भी बदल गई है। सरकार द्वारा दिल्ली में बाबा साहब मेमोरियल और अन्य कई नए गौरवशाली स्थलों का निर्माण कर उन्हें भव्यता दी जा रही है।
प्रधानमंत्री के नेतृत्व में प्राकृतिक खेती की दिशा में हो रहे प्रयास देश-दुनिया को नई दिशा देंगे : मुख्यमंत्री
इस अवसर पर वर्चुअल उपस्थित रहे मुख्यमंत्री  भूपेंद्रभाई पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी के नेतृत्व में देश में सांस्कृतिक धरोहरों के जीर्णोद्धार के साथ नई सुविधाएँ उपलब्ध हो रही हैं। मुख्यमंत्री ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के चेयरमैन हैं और उनके मार्गदर्शन में सोमनाथ में यात्रियों-पर्यटकों की सुविधाओं के लिए अनेक कार्य पूरे हुए हैं। प्रधानमंत्री के दृष्टिपूर्ण नेतृत्व में ‘ग्रीन एनर्जी-क्लीन एनर्जी’ तथा पर्यावरण सुरक्षा के सर्वग्राही क़दमों के साथ प्राकृतिक खेती को भी नई दिशा मिल रही है। प्रधानमंत्री के प्रयास देश-दुनिया में प्राकृतिक खेती के प्रति दृष्टिकोण को नए आयाम देंगे और लोगों के स्वास्थ्य के लिए उपयोगी बनेंगे। मुख्यमंत्री ने सोमनाथ सहित गुजरात के पर्यटन-तीर्थधामों के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा निरंतर किए जा रहे प्रयासों तथा टूरिज़्म सेक्टर को विकसित कर रोज़गार निर्माण एवं ‘आत्मनिर्भर गुजरात से आत्मनिर्भर भारत’ के लिए किए जा रहे प्रयासों की रूपरेखा दी। उन्होंने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केन्द्र सरकार की ‘प्रसाद योजना’ की उपलब्धियों एवं राज्य में इस योजना के अंतर्गत हुए कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि राज्य सरकार पर्यटन तथा तीर्थस्थानों के विकास के लिए कटिबद्ध है।
राज्य सरकार सोमनाथ सहित सांस्कृतिक स्थलों के विकास के लिए कटिबद्ध : मंत्री पूर्णेशभाई मोदी 
सोमनाथ में नवनिर्मित आधुनिक अतिथि गृह सर्किट हाउस का ई-लोकार्पण के अवसर पर ड़क एवं भवन और पर्यटन एवं यात्राधाम विकास मंत्री पूर्णेशभाई मोदी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर सड़क एवं भवन और पर्यटन एवं यात्राधाम विकास मंत्री पूर्णेशभाई मोदी ने इस बात पर हर्ष व्यक्त किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी के नेतृत्व में काशी विश्वनाथ, सोमनाथ सहित सांस्कृतिक विरासती स्थलों का गरिमा के साथ पर्यटनोन्मुखी विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि नवनिर्मित सर्किट हाउस के कारण विशेष सुविधाएँ उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि गुजरात में मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल के मार्गदर्शन में राज्य के पर्यटन एवं तीर्थस्थलों को विकसित करने के लिए टूरिज़्म सर्किट तैयार करने का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने पर्यटन स्थलों के विकास के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की।
जिला प्रभारी मंत्री  अरविंदभाई रैयाणी  ‘आत्मनिर्भर भारत’ के सपने को ‘आत्मनिर्भर गुजरात’ के माध्यम से साकार करने का आह्वान किया
गीर-सोमनाथ जिला प्रभारी मंत्री  अरविंदभाई रैयाणी ने देश-दुनिया से सोमनाथ तीर्थ के दर्शनार्थ आने वाले पर्यटकों-श्रद्धालुओं के लिए विकसित की गई अत्याधुनिक सुविधाओं की जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री  नरेंद्रभाई मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ के सपने को ‘आत्मनिर्भर गुजरात’ के माध्यम से साकार करने का आह्वान किया। सांसद  राजेशभाई चुडासमा ने जूनागढ तथा गीर-सोमनाथ जिले को पर्यटन का प्रवेश द्वार बताते हुए राज्य सरकार द्वारा पवित्र यात्राधामों एवं पर्यटन स्थलों पर विकसित की गई सुविधाओं की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने बताया कि राज्य सरकार तीर्थ स्थलों को पर्यटन के साथ जोड़ कर विकास को नई गति देने की दिशा में प्रयास कर रही है। इस अवसर पर सोमनाथ ट्रस्ट के ट्रस्टी जे. डी. परमार ने प्रासंगिक वक्तव्य में सोमनाथ तीर्थ की महिमा का वर्णन किया। राज्य के मुख्य सचिव पंकज कुमार ने स्वागत वक्तव्य में यात्राधाम सोमनाथ तथा राज्य के पर्यटन विकास की गतिविधियों की जानकारी दी। सड़क एवं भवन सचिव एस. बी. वसावा ने उपस्थित महानुभावों व अतिथियों  के प्रति आभार व्यक्त किया।
सोमनाथ में महालय समान प्रतीत होता नवनिर्मित, आलिशान और चार मंज़िला अतिथि गृह कुल 15000 वर्ग मीटर भूखंड क्षेत्र में फैला हुआ है। इसका कुल कारपेट एरिया 7077.00 वर्गमीटर है। अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त इस सर्किट हाउस में 2 वीवीआईपी स्यूट रूम, 8 वीवीवीआई रूम, 8 वीआईपी रूम, 24 डीलक्स रूम सहित किचन, जनरल व वीआईपी डाइनिंग, स्टोर रूम, कॉन्फ़्रेंस रूम और 200 लोगों की क्षमता वाले ऑडिटोरियम हॉल आदि सुविधाएँ विकसित की गई हैं। 
इस अतिथि गृह के लोकार्पण अवसर पर राज्य मंत्री  देवाभाई मालम, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती रामीबेन वाजा, पूर्व मंत्री  जसाभाई बारड, प्रदेश भाजपा सचिव  झवेरीभाई ठकरार, पवित्र यात्राधाम विकास बोर्ड के सचिव आर. आर. रावल, जिला कलेक्टर राजदेवसिंह गोहिल, नगर पालिका अध्यक्ष पीयूषभाई फोफंडी, पूर्व विधायक राजशीभाई जोटवा, जेठाभाई सोलंकी, सोमनाथ जिला भाजपा अध्यक्ष मानसिंह परमार, कलाकार सर्वश्री मायाभाई आहिर, कीर्तिदान गढवी, आदित्य गढवी, अरविंद वेगडा, उर्वशी रादडिया, किंजल राजप्रिय और ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ फ़ेम मयूर वाकाणी भी उपस्थित रहे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें