गुजरात : जिग्नेश मेवानी की गिरफ्तारी के विरोध में 1000 गांवों में समर्थक 15 मिनट लाइटें बंद रखेंगे!

दलित नेता मैक्वान ने की अपील, मेवानी को कोकराझार के मामले में जमानत मिलने के तुरंत बाद बारपेटा के मामलेे में गिरफ्तार किया गया

गुजरात के युवा दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवानी की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थकों में गुस्सा देखा जा रहा है। मेवानी के समर्थकों ने उनकी गिरफ्तारी के बाद विरोध भी दर्ज करवाया था। अब आगामी 1 मई को गुजरात स्थापना दिवस है और इस दिन प्रदेश के 1000 गांवों में निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी की गिरफ्तारी के विरोध में दलित परिवार अनोखे ढंग से अपना विरोध प्रदर्शित करने की योजना बना रहे हैं।
वरिष्ठ दलित नेता मार्टिन मैक्वान के अनुसार दलित परिवार का कोई भी सदस्य विरोध प्रदर्शन करने के लिए सड़क पर नहीं उतरेगा अपितु 15 मिनट तक अपने घरों की लाइटें बंद करेंगे। उन्होंने कहा है कि हमने सभी से संविधान की प्रस्तावना के सामने दिया जलाने और किसी की सत्ता के प्रति वफादार रहने के बजाय संविधान के प्रति वफादारी की शपथ देने की अपील की है। 
आपको बता दें कि जिग्नेश मेवानी द्वारा सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ किए गए कथित ट्वीट के बाद आसाम में दर्ज पुलिस शिकायत के बाद विगत 20 अप्रैल की देर रात को आसाम पुलिस ने गुजरात पुलिस के साथ संकलन करके मेवानी को पालनपुर से गिरफ्तार किया था। 
आपको बता दें कि असम के कोकराझार की स्थानीय अदालत द्वारा सोमवार को मेवानी को जमानत देने के तुरंत बाद बारपेटा पुलिस द्वारा उन्हें एक महिला लोक सेवक पर हमला करने सहित विभिन्न आरोपों के तहत नये मामले में गिरफ्तार कर लिया। उन्हें मंगलवार को अदालत के समक्ष पेश किया गया जहां उन्हें पांच दिनों के पुलिस रिमांड पर भेजा गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें