गुजरात : दाहोद की महिला अभयम टीम ने घरेलू हिंसा के मामले में परिवार को बचाया

महिला अभयम टीम की प्रतिकारात्मक तस्वीर

महिला के भाई-भाभी को किसी भी तरह से प्रताड़ित न करने का आश्वासन देने के बाद समझौता कराया गया

दाहोद में एक घरेलू विवाद मामले में पीड़िता के साथ दाहोद की महिला अभय टीम ने परिवार में सुलह करायी। बात ऐसी थी कि दाहोद के एक गांव की एक युवती की 181 अभयम महिला हेल्पलाइन पर फोन आया कि उसकी भाभी उसे रोज परेशान कर रही है और बात हिंसा में बदल गई। अभयम रेस्क्यू टीम दाहोद तुरंत मौके पर पहुंची और युवती के भाई-भाभी को इस तरह से प्रताड़ित न करने की सख्त हिदायत दी। जिसमें दोनों ने माफी मांगी और फिर कभी ऐसा नहीं करने की कसम खाई।
महिला तलाकशुदा है और मायके में अपने माता-पिता के साथ रहती है। लेकिन दो महीने पहले पिता की कोरोना से मौत हो गई। जिससे  उसके भाई-भाभी अक्सर घर से निकलने को लेकर झगड़ते रहते थे। तुम्हारी कोई मिल्कियत नही है सब हमारी है ऐसा कहकर  बार-बार युवती पर दबाव बनाया जा रहा था। इसी बात को लेकर हुए झगड़े ने बड़ा रुप ले लिया और मामला  मारपीट तक पहुंच गया।  पीड़िता ने बचाव के लिए 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया और अभयम की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और महिला की मदद की।
अभयम की टीम ने महिला के भाई-भाभी को साफ-साफ समझा दिया कि किसी महिला को इस तरह प्रताड़ित करना ही जुर्म है। महिला के भाई-भाभी को किसी भी तरह से प्रताड़ित न करने का आश्वासन देने के बाद समझौता कराया गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें