गुजरात : गीर-सोमनाथ में तेंदूए ने तीन वर्षीय बच्ची को बनाया शिकार

गुजरात के गीर-सोमनाथ के वन्य क्षेत्र में जंगली जानवरों का रिहायशी बस्ती में आगमन चिंता का विषय बनता जा रहा है। मानव बस्ती तक पहुंच चुके शेरों और तेंदुओं के कारण जानहानि के मामले भी सामने आ रहे हैं और लोगों में दहशत व्याप्त है। गीर के कोडिनार के गीर-देवली गांव में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें तेंदूए ने तीन वर्षीय बच्ची को अपना शिकार बना लिया। यह दर्दनाक वाकया तब हुआ जब बच्ची अपने खेत में मौजूद थी और गन्ने के खेत की बाड़ की कटाई का काम चल रहा था। इस घटना में बच्ची की मौत हो गई। घटना के बाद वन्य विभाग सक्रिय हो गया है और तेंदूए को पकड़ने के लिये क्षेत्र में पिंजरा लगाया गया है। बता दें कि पिछले महीने भी क्षेत्र के विठ्ठलपुर गांव की सीमा में एक खूंखार तेंदूए को पिंजरे में पकड़ा गया था।

गुजरात के गीर-सोमनाथ के वन्य क्षेत्र में जंगली जानवरों का रिहायशी बस्ती में आगमन चिंता का विषय बनता जा रहा है। मानव बस्ती तक पहुंच चुके शेरों और तेंदुओं के कारण जानहानि के मामले भी सामने आ रहे हैं और लोगों में दहशत व्याप्त है।

गीर के कोडिनार के गीर-देवली गांव में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें तेंदूए ने तीन वर्षीय बच्ची को अपना शिकार बना लिया। यह दर्दनाक वाकया तब हुआ जब बच्ची अपने खेत में मौजूद थी और गन्ने के खेत की बाड़ की कटाई का काम चल रहा था। इस घटना में बच्ची की मौत हो गई।

घटना के बाद वन्य विभाग सक्रिय हो गया है और तेंदूए को पकड़ने के लिये क्षेत्र में पिंजरा लगाया गया है। बता दें कि पिछले महीने भी क्षेत्र के विठ्ठलपुर गांव की सीमा में एक खूंखार तेंदूए को पिंजरे में पकड़ा गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें