कोविड-19 प्रोटोकॉल के बीच गंगोत्री धाम के कपाट खुले

(File Photo : IANS)

नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)| वैशाख शुक्ल तृतीया के शुभ अवसर पर शनिवार सुबह साढ़े सात बजे गंगोत्री धाम के कपाट पूरे धार्मिक अनुष्ठानों के साथ खोल दिए गए। शुक्रवार को मां गंगा की प्रतिमा भैरों घाटी पहुंची। शनिवार सुबह चार बजे मां गंगा की डोली गंगोत्री धाम के लिए रवाना हुई। इस अवसर पर मानव कल्याण की कामना करते हुए मां गंगा की आरती की गई। चार धाम यात्रा स्थगित होने के कारण चारों धामों के कपाट सांकेतिक रूप से खोल दिए गए। केवल पूजा की परंपरा को निभाने वाले लोगों को ही धामों में जाने की अनुमति है। प्रतिदिन धामों में पूजा-पाठ जारी रहेगा। चारों धामों के कपाट खुलने के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का विधिवत पालन किया गया।
इस अवसर पर गंगोत्री मंदिर समिति के कुछ लोग, अनुमंडल पदाधिकारी, उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के विशेष अधिकारी उपस्थित थे. इससे पहले यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए हैं और सोमवार को केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे. शनिवार को केदारनाथ के भगवान की 'पंचमुखी डोली' केदारनाथ पहुंची।
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के कारण चार धाम यात्रा स्थगित कर दी गई है। स्थिति सामान्य हुई तो चार धाम यात्रा शुरू होगी। भक्तों को अपने घर पर ही पूजा-अर्चना करनी चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें