फीफा विश्व कप 2022 : जर्मनी समेत 7 यूरोपीय देशों को संस्था ने दी चेतावनी, टूर्नामेंट से हटने का खतरा

'वन लव आर्मबैंड' मामले पर जापान के खिलाफ मैच से पहले जर्मनी के खिलाड़ियों ने अपना मुंह ढ़क कर किया फीफा का विरोध

फीफा विश्व कप 2022 में सभी टीमों ने अभी तक अपने-अपने अभियान की शुरुआत भी नहीं की है लेकिन पहले ही तरह तरह के विवाद जोर पकड़ रहे हैं। इसी बीच इक मामला ऐसा भी है जिसमें अगर मामला बढ़ता है तो संभव है कि टूर्नामेंट के बीच में ही 7 देश विश्व कप से हट जाएं। ये हैं वो 7 देश जिन्हें फीफा ने चेतावनी दी है। फुटबॉल की शीर्ष संस्था फीफा ने 7 यूरोपीय देशों को चेतावनी दी है कि अगर उनका कोई खिलाड़ी 'वन लव आर्मबैंड' पहनकर मैदान में प्रवेश करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जापान से पहले मैच में जर्मनी का अनोखा विरोध


आपको बता दें कि 7 यूरोपीय देशों में जर्मनी ने भी इसका विरोध किया है। जापान के खिलाफ मैच से पहले ली गई ग्रुप फोटो में उनके खिलाड़ियों ने अपना मुंह बंद रखा। खिलाड़ियों के अलावा जर्मनी की मंत्री नैंसी फीगर ने भी इसका विरोध किया। वह 'वन लव आर्मबैंड' पहनकर मैच देखने स्टेडियम पहुंची थीं, जिसकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं। इससे पहले जर्मनी समेत कई टीमों ने एक अभियान के तहत टूर्नामेंट के दौरान भेदभाव-विरोधी आर्मबैंड पहनने की योजना बनाई थी।

फीफा की चेतावनी से 7 देशों में हडकंप


फीफा ने कहा कि समावेश और विविधता के प्रतीक के रूप में रंगीन 'वन लव आर्मबैंड' पहनने के लिए खिलाड़ियों को दंडित किया जाएगा। आपको बता दें कि फीफा ने जिन सात यूरोपीय देशों के लिए ऐसा कहा था, उनके कप्तानों ने 'वन लव आर्मबैंड' पहनकर मैदान में उतरने की योजना बनाई थी। फीफा ने यह भी कहा कि अगर टीम का कोई खिलाड़ी ऐसा करता है तो उसे तत्काल पीला कार्ड दिखाया जाएगा। फीफा के फैसले की आलोचना करने वालों में जर्मनी के कोच हांसी फ्लिक और फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष बर्नड न्यूएनडॉर्फ शामिल थे।

'वन लव आर्म बैंड' क्या है?


 'वन लव आर्म बैंड' समानता के समर्थन का प्रतीक है। यह कतर में भी महत्वपूर्ण है जहां समलैंगिकता कानूनी नहीं है। यह सिर्फ LGBTQ समुदाय से संबंधित नहीं है। फुटबॉल खिलाड़ी इन आर्मबैंड को पहनकर समानता का संदेश उसी तरह देना चाहते थे जैसे क्रिकेटर्स ब्लैक लाइव्स मैटर के समर्थन में घुटने टेकते हैं। लेकिन खिलाड़ियों को अनुमति नहीं दी गई, क्योंकि ये चीजें फीफा के नियमों और विनियमों में शामिल नहीं हैं। फीफा की चेतावनी से प्रभावित 7 यूरोपीय देशों में जर्मनी के अलावा इंग्लैंड, डेनमार्क, स्वीडन, बेल्जियम शामिल हैं। डेनमार्क इस बारे में यूईएफए देशों से बात करने के बाद फीफा विश्व कप छोड़ने का मन बना रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें