प्लास्टिक की बोतल में से पानी पीने से हो सकती है गंभीर बीमारियाँ, जानें किस तरह बच सकते है

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : pixabay.com)

पुरुषों के स्पर्म काउंट कम होने से लेकर महिलाओं को गर्भपात भी हो सकता है

अक्सर ट्रिप पर जाते समय या बाहर हम अक्सर पानी पीने के लिए अक्सर प्लास्टिक की बोतल का इस्तेमाल करते है। हालांकि पाँच या दस रुपए मे मिलने वाली यह पानी की बोतल आपको काफी नुकसान पहुंचा सकती है। अमेरिका की न्यूयोर्क यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक संशोधन में सामने आया कि प्लास्टिक की इस तरह की बोतल में पानी पीने से गंभीर बीमारियाँ हो सकती है। एक और जहां कोरोना काल में लोग अपनी रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाने की कोशिश कर रहे है और इसके लिए उन्होंने अपनी जीवनशैली भी बदल दी है। हालांकि ऐसे में प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना काफी नुकसानकारक हो सकता है। 
अमेरिका की न्यूयोर्क यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक स्टडी में कहा गया कि प्लास्टिक की बोतल में बिस्फिनोल ए नाम का रसायण होता है। जिसमें हानिकारक रसायण और बेकटेरिया होते है। इसके चलते डायबिटिस और कैंसर जैसी कई बीमारियाँ हो सकती है। इसके लिए न्यूयोर्क यूनिवर्सिटी द्वारा प्लास्टिक की बोतल पीने वाले 5000 लोगों पर स्टडी किया था। जिसमें उनके अंदर हॉरमोन की समस्या सामने आई थी। 
प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने से पुरुषों में स्पर्म काउंट कम होते है। इसके अलावा बोतल में ऐसे कई केमिकल होते है जो कफ, गेस और आंत की बीमारियाँ हो सकती है। प्लास्टिक की बोतल में आर्सनिक और फ्लोराइड रिलीज करते है, जिसके चलते उन्हें डायाबिटीस होते है। गर्भवस्था के दौरान यदि प्लास्टिक की बोतल से पानी पिया जाये तो गर्भपात का खतरा भी बना रहता है और साथ-साथ महिलाओं की माँ बनने की क्षमता पर भी असर हो सकती है। ऐसे में प्लास्टिक की बोतल की जगह पर वैज्ञानिकों ने बांस की, काच की, टेराकोटा, स्टेनलेस स्टील, ताँबे या एल्यूमिनियम की बोतल का इस्तेमाल करने की सलाह दी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें