नहीं दिलवाना था कोरोना का टीका तो खुद के ही बच्चों का कर लिया किडनैप, जानें हैरान कर देने वाला मामला

प्रतिकात्मक तस्वीर

पति ने दर्ज करवाई अपनी ही पत्नी के खिलाफ शिकायत, स्कूल से उठाकर हो गई थी गायब

स्पेन में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी पर अपने दो बच्चों को कोविड के टीके से बचाने के लिए अपहरण करने का आरोप लगाया है। मामला अब कोर्ट में है और कोर्ट ने अब दोनों बच्चों की कस्टडी पिता को सौंप दी है। बच्चों की उम्र 14 और 12 साल है। स्पेन में, सरकार ने 11 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए टीकाकरण अनिवार्य कर दिया है। महिला की उम्र 46 साल है और वह अपने पति से अलग रहती है। पति का आरोप है कि उसकी पत्नी 14 और 12 साल के बच्चों का टीकाकरण नहीं कराना चाहती थी, इसलिए वह उन्हें कहीं लेकर चली गई। 
इस शख्स ने दिसंबर में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने शिकायत में कहा, "मेरी पत्नी बच्चों को अवैध रूप से कहीं ले गई है।" पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि दोनों बच्चे चार नवंबर से अपनी मां के साथ लापता हैं। शख्स ने शिकायत में यह भी कहा कि बच्चे नवंबर से उससे नहीं मिले थे। उस व्यक्ति ने कहा: "मेरी पत्नी ने मुझे नवंबर में एक पत्र लिखा था। उसने कहा कि वह बच्चों को स्कूल से पीक कर कहीं और ले जा रही है। 
इस बीच, अदालत ने कहा कि यह माता-पिता पर निर्भर करता है कि वे अपने बच्चों का टीकाकरण करें या नहीं। हालांकि, बाद में इसे स्पेनिश सरकार द्वारा अनिवार्य कर दिया गया था। महिला बुधवार को अधिकारियों के सामने पेश हुई। उसके साथ दोनों बच्चे थे। बाद में महिला को हिरासत में ले लिया गया, दोनों बच्चों को उनके पिता को सौंप दिया गया। स्पेनिश सरकार ने 15 दिसंबर को मीडिया के खिलाफ संक्रमण के मामलों की जांच के लिए एक रिपोर्ट जारी की। स्पेन में टीकाकरण का कोई खास विरोध नहीं था। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 12 साल से अधिक उम्र के 90% बच्चों को टीके की दोनों खुराकें मिल चुकी हैं। ऐसे में बच्चों को टीकाकरण से बचाने का ये मामला थोड़ा अजीब लगता है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें