माता-पिता हुए कोरोना संक्रमित तो नन्हीं जान की देखभाल के लिये आगे आईं महिला पुलिसकर्मी

कोरोना संक्रमण काल में नकारात्मक खबरों के बीच जब कोई अच्छी और सकारात्मक खबर मिलती है, तो दिल को सुकून पहुंचता है। दिल्ली से एक ऐसी ही कहानी सामने आई है।
दरअसल, यहां एक युवा दंपत्ति कोरोना संक्रमित हो गया। परिवार में दादी हैं, उन्हें भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया। दंपत्ति के 6 महीने की मासूम बच्ची थी और परिवार के तीन सदस्यों के इस प्रकार बीमार हो जाने पर बच्ची की देखभाल करने वाला कोई नहीं बचा। रिश्तेदार दिल्ली से बाहर मेरठ और गाजियाबाद में रहते थे और वहां लॉकडाउन होने के कारण कोई मदद करने में सक्षम नहीं था। बच्ची की रिपोर्ट नैगेटिव आई थी। दंपत्ति चिंतित था कि अब इस नन्हीं सी जान की देखभाल कैसे होगी। 
बच्ची के परिवार ने दिल्ली में पुलिस में सेवारत अपनी परिचित महिला पुलिसकर्मी से संपर्क साधा। महिला पुलिसकर्मी राखी ने मामले की सूचना अपनी वरिष्ठ अधिकारियों को दी और उनकी इजाजत पाकर दंपत्ति के घर पहुंची। वहां से बच्ची को लिया और उनके माता-पिता द्वारा दिये गये कपड़ों और खाने-पीने का सामान साथ लेकर दिल्ली से मोदीनगर, उत्तरप्रदेश में रहने वाली बच्ची के नाना-नानी के घर के लिये निकल पड़ीं। रास्ते में राखी ने बच्ची की पूरी तरह से देखभाल की। उसके खाने-पीने का ध्यान रखा और सकुशन उसे उनके रिश्तेदारों के घर पहुंचा दियामिहिला पुलिसकर्मी राखी और उनके सीनियर अधिकारियों द्वारा समय रहते की गई इस मदद की पीड़ित परिवार और लोग प्रशंसा कर रहे हैं। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें