कोरोना मृतक का शव रिश्तेदारों को सौंप दिया, वो रिक्शा में लाद अंतिम संस्कार के लिये गये!

भावनगर की सर टी अस्पताल के प्रशासन द्वारा किया गया अक्ल का प्रदर्शन

देश भर में कोरोना के केस काफी तेजी से बढ़ते जा रहे है। ऐसे में कई जगहों से इलाज के दौरान हो रही लापरवाही सामने आ रही है। एक ऐसी ही घटना भावनगर में सामने आई है, जहां अस्पताल द्वारा कोरोना मृतक का शव सीधे उनके रिश्तेदार को सौंप दिया गया। आम तौर पर जब किसी भी कोरोना मरीज की मृत्यु होती है तो कोविड की गाइडलाइंस के अनुसार पैक कर के उसे श्मशान तक ले जाया जाता है। 
यह घटना हुई है भावनगर की सर टी अस्पताल में जब अस्पताल प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमित मरीज की लाश सीधा उनके परिजनो को सौंप दिया। विस्तृत जानकारी के अनुसार, भावनगर के नारी रोड कुंभारवादा के पीछे रहने वाले 36 वर्षीय मंजुबेन को कोरोना और अन्य बीमारियाँ भी थी। जिसके चलते सर टी अस्पताल ले जाया गया। परिजनों ने कहा की उनका नंबर लाश लेने की लाइन में 40 वीं नंबर पर था। उनके स्वजन की लाश पीपीई में पैक भी थी। इसके बाद स्वजन रिक्शा में बैठ कर मृतदेह को श्मशान में ले गए। अस्पताल की ऐसी अव्यवस्था के कारण लोगों में काफी क्रोध फैला है।
आम तौर पर मृतदेह को पीपीई में पैक कर एम्ब्युलेंस की व्यवस्था की जाती है। पर अस्पताल के तंत्र द्वारा किसी भी तरह की ज़िम्मेदारी के बिना मृतदेह को परिजनों को सौंप दिया। भावनगर के श्मशान संचालन के ट्रस्टी अरविंदभाई परमार ने इस मृतदेह का तुरंत ही अंतिमसंस्कार किया था। हालांकि इस तरह मृतदेह को परिवार को सौंप देने से कोरोना का संक्रमण अधिक से अधिक फ़ेल सकता है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें