सूरत के सिनेमाघर फिल्म प्रेमियों का फिर से स्वागत करने के लिए तैयार

प्रतिकात्मक तस्वीर (File Photo : IANS)

महामारी की दूसरी लहर के कम होने के बाद 60 प्रतिशत के साथ सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति मिली

जैसे जैसे कोरोना की दूसरी लहर से भारत बाहर आ रहा है सूरत शहर के सिनेमा अब मूवी देखने वाले सभी रसिकों का स्वागत करने के लिए तैयार है। सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार पहले ही सभी मल्टीप्लेक्स को 60 प्रतिशत क्षमता के साथ खोले जाने की अनुमति दी जा चुकी है। साल 2020 में इंडियन फिल्म उद्योग अपने सबसे बुरे दौर में से गुजर रहा था। कोरोना महामारी के कारण कई बड़ी फिल्मों, वेब सीरीज की शूटिंग को रोक दिया गया था। इसके अलावा जिन फिल्मों की शूटिंग पूर्ण हो चुकी थी उनकी रिलीज को भी रोकना पड़ा था। इन सभी के चलते फिल्म उद्योग से जुड़े दिहाड़ी मजदूरों को अपनी दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करने भी काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा था। 
मार्च 2021 में जारी E&Y FICCI की रिपोर्ट के अनुसार इस समय के दौरान करीब 1000 सिंगल स्क्रीन बंद हो चुके है। सिनेमा के इतने बड़े इतिहास में इंडस्ट्री ने कभी भी इतना बड़ा शट डाउन नहीं देखा था, इसलिए इससे होने वाले नुकसान का भी किसी को कोई अनुमान नहीं था। लोकडाउन के दौरान बॉक्स ऑफिस कलेक्शन और फूड एंड बेवेरेजस के व्यवसाय को तकरीबन 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर का नुकसान हुआ है। हालांकि इन सबके बावजूद यह इंडस्ट्री ही सबसे अधिक तेजी से रिकवरी प्राप्त करेगा, ऐसे विशेषज्ञों का मानना है। 
कोरोना की पहली लहर के बाद सामने आए फुटफॉल ट्रेंड को देखते हुए विशेषज्ञों का कहना है कि कोई नई रिलीज ही इस समय लोगों के सिनेमा की तरफ खींच सकती है। क्योंकि पहले से लाइब्रेरी में पड़ी हुई फिल्मों में से अधिकतर फिल्मों को दर्शक देख चुके है। ऐसे में जब तक बड़ी स्क्रीन पर कोई नई रिलीज नहीं होती तब तक लोग सिनेमा घरों तक नहीं आएगे। कोरोना की दूसरी लहर के बाद सूरत एग्जीबिटर्स असोशिएशन द्वारा आने वाले महीनों में एक आशाजनक स्क्रीनिंग की आशा रखी जा रही है। 
19 अगस्त के बाद से दर्शकों को कई सारी नई फिल्में देखने मिलने वाली है। जैसे ही हॉलीवुड की F9 : द फास्ट सागा, बॉलीवुड से अक्षयकुमार की बहुप्रतीक्षित फिल्म बेलबॉटम और सूर्यवंशी, अमिताभ की चेहरे, रणबीर सिंह अभिनीत कपिल देव की बायोपिक '83' के अलावा जर्सी, सत्यमेव जयते, मैदान, पृथ्वीराज, ब्रह्मास्त्र, पठान, लालसिंह चड्ढा, नो टाइम टू डाइ, टॉप गन 2 जैसी कई फिल्में है। बॉलीवुड के अलावा 50 से अधिक रिजनल मूवीस और तकरीबन एक दर्जन हॉलीवुड मूवीज लोगों का मनोरंजन करने की तैयारी कर रहे है, जो की आने वाले 12 महीनों में रिलीज होने वाली है। एक के बाद एक मूवीज की रिलीज के चलते पूरा केलैंडर काफी आकर्षक और दिलचस्प बनने वाला है, जो की सबसे अधिक दर्शकों के लिए फायदेकारक होने वाला है और काफी लंबे समय तक इंतजार करने के बाद अब सिनेमा की और रुख कर सकेगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें