मानो या न मानो : 86वीं मंज़िल से नीचे कूदने के बाद भी जिंदा बच गई महिला, आई सिर्फ मामूली चोटें, जानिए पूरी कहानी

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)

ये है इतिहास की सबसे चर्चित आत्महत्या की घटना, अमेरिका की 29 साल की महिला एल्विता एडम्स की ये कहानी आपको भी हैरान कर देगी

अपनी जिंदगी से परेशान हो कर लोगों द्वार आत्महत्या करने के बारे में तो हर कोई जानता है पर ऐसा भी कहा जाता है कि कुछ लोगों के लिए मौत भी आसान नहीं होती। कुछ लोग आत्महत्या भी करने जाते हो तो उसमें भी सफल नहीं होते।ऐसा ही कुछ हुआ अमेरिका में एक महिला के साथ जब वो आत्महत्या करने का प्रयास कर रही थी। महिला ने खुद को ख़त्म करने के लिए ईमारत की 86वीं मंज़िल से नीचे कूद पड़ी लेकिन इसके बाद भी उसे मौत नसीब नहीं हुई। आप सोचेंगे कि इतनी ऊंचाई से कूदने के बाद भला कोई कैसे बच सकता है लेकिन इतिहास की सबसे चर्चित आत्महत्या की घटना में ऐसा ही हुआ। आप भी इस दिलचस्प आत्महत्या के बारे में जानकर मुस्कुरा पड़ेंगे।
जानकारी के अनुसार ये कहानी है अमेरिका की 29 साल की महिला एल्विता एडम्स की जो 1000 फीट की ऊंचाई से कूदने के बाद भी सही-सलामत बच गई। ये कहानी है साल 1979 की। इस साल 2 दिसंबर के दिन अमेरिका की ड्रीम सिटी न्यूयॉर्क में स्ट्रगलर रही एल्विता एडम्स की अपनी खराब आर्थिक हालत बहुत ख़राब थी। उसकी नौकरी छूट चुकी थी और घर का किराया देने के भी पैसे उसके पास नहीं थे।  इन सबसे निराश होकर उसने आत्महत्या करने का फैसला किया। एल्विता ने आत्महत्या करने के लिए न्यूयॉर्क की मशहूर एम्पायर स्टेट बिल्डिंग के 86वें फ्लोर से मरने के लिए छलांग लगा दी। 
इसके बाद कोई भी कहेगा कि एल्विता की मौत हो गई होगी पर जब कुदरत ने अपना काम किया तो ये आत्महत्या इतिहास में मशहूर हो गई। दरअसल हुआ ऐसा कि जब एल्विता कूदीं तो तेज़ हवा के चलते महज 20 फीट नीचे मतलब लगभग 85वीं मंज़िल तक आने के बाद हवा के तेज़ प्रेशर की वजह से वो वापस बिल्डिंग में घुस गई। इस घटना में उनकी जान नहीं गयी बस वो जख्मी हो गई। जब उनकी आंख खुली तो वे सिर्फ दर्द महसूस कर रही थीं। यही वजह है कि सालों बाद भी जब आत्महत्या का ज़िक्र होता है तो अमेरिका का ये मामला खुद ब खुद याद आ जाता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें