असम : चाय है या सोना! एक किलोग्राम चाय की कीमत एक लाख रुपये

असम के गोलाघाट जिले की आर्गेनिक चाय की दुर्लभ किस्म पभोजन गोल्ड चाय सोमवार को एक लाख रुपये प्रति किलोग्राम में बिकी

चाय भारत में लोगों की जान (Tea Lovers) है। हालांकि, कई लोगों को कॉफ़ी भी पसंद होती है लेकिन अगर भारत में किसी के घर जाएं, तो वहां आपको चाय जरूर पूछी जाएगी। कुछ लोग चाय के इतने शौक़ीन होते हैं कि चाहे गर्मी हो या बारिश, या फिर सर्दी, चाय तो बेहद जरुरी है। इसके अलावा चाय के शौकीनों को दिन में कितनी ही बार चाय ऑफर कर दी जाए, वो चाय की चुस्की लेने से मना नहीं करेंगे। भारत में मानसून ने एंट्री कर ली है। इसी के साथ झमाझम बारिश होने लगी है। ऐसे मौसम में चाय का मजा तो पकौड़े के साथ ही आता है। यहाँ टपरी पर एक कटिंग चाय के  साथ साथ बहुत महंगे- महंगे रोयाल चाय भी मिलते है, लेकिन क्या आपको पता है कि एक चाय ऐसी भी है जिसकी कीमत लाखों में है?  
आपको बता दें कि असम के गोलाघाट जिले की आर्गेनिक चाय की दुर्लभ किस्म पभोजन गोल्ड चाय सोमवार को एक लाख रुपये प्रति किलोग्राम में बिकी। जोरहाट के नीलामी केंद्र में इस साल यह सबसे अधिक बोली है। जोरहाट चाय नीलामी केंद्र अधिकारियों ने कहा कि यह चाय पभोजन आर्गेनिक टी एस्टेट ने ईशा टी को बेची है। है। ईशा टी के सीईओ बिजीत सरमा ने कहा कि यह चाय की किस्म उनके ग्राहकों को असम के बेहतरीन चाय मिश्रण उपलब्ध कराने में मदद करेगी। यह चाय की किस्म दुर्लभ है और ‘चाय के पारखी लोगों के लिए, यह इस एक कप का एक अलग अनुभव है। हमारे ग्राहक दुनिया भर में फैले हुए हैं और वे इस किस्म के स्वाद और मूल्य को समझेंगे। हमें खुशी है कि हम उन्हें असली असम चाय के स्वाद प्रदान करने के अपने मिशन को जारी रखने में सक्षम हैं।’’
हमारे ग्राहक दुनियाभर में हैं और वे इस किस्म की कीमत व स्वाद को समझेंगे। पभोजन आर्गेनिक टी एस्टेट के मालकिन राखी दत्ता सैकिया ने कहा कि हमने केवल एक किलोग्राम ही चाय की इस दुर्लभ किस्म का उत्पादन किया है और इस रिकॉर्ड कीमत को लेकर खुश हैं। यह दाम असम चाय उद्योग को अपनी खोई शोहरत को हासिल करने में मदद करेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें